Published On : Mon, Aug 4th, 2014

गडचिरोली : एसीबी के जाल में महावितरण के दुय्यम अभियंता


10 हजार की ली रिश्वत

गडचिरोली

नया थ्री फेज मीटर लगाने कार्य हेतु ग्राहक से 10 हजार की रिश्वत लेते हुए महावितरण के गडचिरोली के दुय्यम अभियंता बुद्धदिप धरमदास लांजेवार को एन्टी करप्शन ब्युरो ने 2 अगस्त को रंगेहाथ गिरफ्तार किया है.

अधिक जानकारी के अनुसार गडचरोली शहर के आयटीआय निवासी बिल्डिंग मटेरियल सप्लायर विद्युतकुमार शैलेंद्र बिश्वास ने महावितरण की ओर आवेदन किया था. मात्र गडचिरोली कार्यालय में कार्यरत दुय्यम अभियंता बुद्धदिप धरमदास लांजेवार ने बिश्वास को मीटर देने के लिए 20 हजार रुपयोँ की रिश्वत मांगी. मात्र बिश्वास ने 20 हजार रुपये देने से राजी नहीं हुए. जिसपर लांजेवार ने 10 हजार देने बात मान्य की. बिश्वास ने इस संदर्भ में एन्टी करप्शन ब्युरो गडचिरोली में शिकायत दर्ज की. पश्चात एन्टी करप्शन ब्युरो के अधिकारियों चामोर्शी मार्ग पर स्थित महावितरण कार्यालय के परिसर में जाल बिछाया. शाम 4:40 मिनिट के दौरान कात्रटवार कॉम्प्लेक्स के सामने विद्युतकुमार बिश्वास इनसे 10 हजार की रिश्वत लेते हुए दुय्यम अभियंता बुद्धदिप लांजेवार को रंगेहाथ गिरफ्तार किया.

उक्त कार्रवाई एन्टी करप्शन ब्युरो के पुलिस अधिक्षक वसंत शिरभाते, पुलिस उपअधीक्षक रोशन यादव के मार्गदर्शन में पुलिस निरीक्षक डि.डब्लू. मंडलवार, हवालदार विठोबा साखरे, सत्यम लोहंबरे, वसंत जौंजालकार, रविन्द्र कत्रोजवार, परिमल बाला, उमेश मासुरकर ने की.

Representational Pic

Representational Pic