Published On : Sun, Jun 29th, 2014

खामगांव : स्कूल के कमरे बंद;खुले आसमान के नीचे चल रही क्लास


खामगांव

जिले के ग्राम बिस्वी क़ी स्कूल के तीन लाख तिरसठ हज़ार रूपए जिला परिषद् की शेष फंड मे साल 2005 से जमा हैं. इस निधि का इस्तेमाल स्कूल की वीकास की लीए होना था लेकीन ऐसा कुछ नहीं हुआ. ये निधि उपलब्ध कराने के लिए शिवसेना जिला उपप्रमुख दीलीप देशमुख तथा ग्रामवासीयों ने सीईओ को ज्ञापन सौंपा था और निधि न मिलने की सूरत मे स्कूल पर ताला लगा देने की चेतावनी दी थी. कोई एक्शन नहीं लिए जाने की वजह से ग्रामवासियों ने स्कूल बंद कर दी है. इस बात को तीन दिन बीत चुके हैं लेकिन स्थिति जस की तस बनी हुई है.

गौरतलब है की ग्राम बिस्वी की जिला परिषद मराठी पूर्व माध्यामिक शाला की 20 एकड़ ज़मीन सरकार द्वारा हस्तांतरित की गई थी. ज़मीन की नीलामी करने के बाद जो रकम आई उससे स्कूल क़ा वीकास करना ज़रुरी था. नीलामी की रकम जिला परिषद् के शेष फंड मे साल 2005 से जमा करा दिया गया था. लेकिन उन पैसों से स्कूल का विकास नहीं किया गया. स्कूल के कमरों में ताला जड़ा होने की वजह से बच्चे बाहर खुली प्रांगण मे आसमान क़े निचे पढाई करने को मजबूर हैं.

File Pic

File Pic