Published On : Fri, Jul 4th, 2014

खामगांव : जिजाऊ जन्मस्थल विकास के लिए रू. 250 करोड

Advertisement


खामगांव

hasan Mushrif
जिला नियोजन समिती की बैठक 3 जुलाई को पालकमंत्री हसन मुश्रीफ की अध्यक्षता में हुई. इसके बाद आयोजित पत्रकार परिषद में ना.मुश्रीफ ने बताया कि, राज्य सरकार ने राष्ट्रमाता मां. जिजाऊ के जन्मस्थल सिंदरखेडराजा के विकास के लिए 250 करोड़ रूपयों का विकास प्रारूप तयार किया है. ताकि इस उपेक्षित नगरी के भाग्य खुल सके.

जानकारी देते हुए मुश्रीफ ने बताया की वर्ष 2013-14 में बुलढाणा जिले को मंजूरी एवं प्राप्त निधी 155 करोड़ रूपए थी और मार्च 2014 तक 154 करोड 99 लाख 90 हजार रूपए खर्च किये गए है. इस खर्च के मामले में बुलढाणा जिला राज्य में प्रथम स्थान पर है. जिले की 265 ग्रामपंचायतों को खुद की इमारते नहीं है. उसके लिए विशेष निधी उपलब्ध कराई गई है. स्मशान भुमी के लिए शेड और आंगनवाडी की इमारते बनाई जा रही है. जिले में सभी तहसील एवं उपविभागीय अधिकारी कार्यालयों में सीसीटीवी कॅमेरे लगा दिए गए है. अब जिले के सभी तहसील एवं उपविभागीय पुलिस अधिकारी कार्यालय एवं एस.पी. ऑफिस के सभी विभागों में कॅमेरे लगाए जानेवाले है.

Advertisement

माँ जिजाऊ के जन्मस्थल सिंदखेडराजा नगरी के विकास को महत्व देते हुए राज्य सरकार ने रू. 250 करोड़ का प्रारूप मंजूर किया है. जिसके नियोजन के लिए 1 करोड़ रूपए जिला नियोजन समिती की सभा में मंजूर किए गए. शेगांव विकास प्रारूप पर बोलते हुए पालकमंत्री ने कहा इस प्रारूप को और रु 111 करोड़ की जरुरत है. जल्द ही श्री गजानन महाराज मंदिर से सटी मातंगपुरा बस्ती का पुनर्वास किया जाएगा.

पत्रकार परिषद में विभागीय आयुक्त बन्सोड जिलाधीश किरण कुरुंदकर जि.प. के सीईओ ओमप्रकाश देशमुख, जिला पुलिस अधीक्षक श्यामराव दिघावकार, विधायक दिलीप सानंदा, विधायक विजयराज शिंदे, विधायक राहुल बोंद्रे उपस्थित थे.

मै व्यथित हो गया
विगत लोकसभा चुनाव में उन्हें कोल्हापुर ज़िले की औऱ मनोहार नाईक को बुलढाना जीले की ज़िम्मेदारी दी गई थी. अपने पर स्याही फेके जाने से व्यथित हो जाने की बात पालकमंत्री ने कही. इसी वजह से पद छोड़ने का भी ख़याल मन में आने की बात पालकमंत्री ने कही. यह ज़िम्मेदारी नंदुरबार के विजय गावित कॉ दि जाने वाली थी लेकीन लोक़सभा मे गावित की ओर से बग़ावत किए जाने के बाद दुबारा ये ज़िम्मेदारी मूझे दी गई ऐसी जानकारी उन्होंने दी.

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement