Published On : Sat, Jul 12th, 2014

कोराडी : श्री क्षेत्र विठ्ठल रूखमाई मंदिर कोराडी में रविवार को महाप्रसाद का आयोजन


कोराडी

vithal rukhmai mandir koradi
श्री क्षेत्र विठ्ठल रूखमाई मंदिर में हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी आषाढ़ी उत्सव के अवसर पर 6 जुलाई से 12 जुलाई तक शाम को हरिपाठ का आयोजन किया गया है. इसमें लगभग 20 भजनमंडलो ने भाग लिया था. इस आयोजन का समापन 13 जुलाई को भव्य महाप्रसाद के आयोजन के साथ होगा.

प्राप्त जानकारी के अनुसार महादुला कोराडी परिसर में 20 से 25 गावों के नागरिक, श्री संत सेवा गुरुमाउली पालखी दिंडी व संतो का सम्मेलन आयोजित किया गया. नागरिको से बड़े प्रमाण में उपस्थित रहने का आवाहन कंठी क्षेत्र के आमदार चंद्रशेखर बावनकुले, उपाध्यक्ष श्री विठ्ठल रूखमाई मंदिर श्री मोरेश्वर विरखेड़े, सहसचिव विठ्ठल निमोने, कोषाध्यक्ष कवडु डोंगरे, शाहू जामदार, दौलत मांण्डवकर, हरिश्चंद्र पाखे, वसंतराव बर्डे, अशोक मोज़े, विलास फुलझेले, सुरेश, नन्दलाल पटेल, मनोहर विरखेड़े, नयन सुख जामदार, हरीश चंद्र पाखी, विजय सावरकर, रमेश ठाकरे, राजाराम परनामी, यशोधन भोस्कर, रमेश निरासे, अरुण वाघधरे, गजानन रक्षे, श्रीमती मीरा उमेठे, और प्रभा निमोने आदि ने किया है.

Advertisement

13 जुलाई को महाप्रसाद के दौरान गांव में माउली की डंडी निकाली जाएगी. इस कार्यक्रम में लगभग 20 भजन मंडल, तथा कलशधारी महिलाएं मुख्य रूप से भाग लेंगी. इस दौरान मुख्य रास्ते को विशाल रंगोली से सजाया जायेगा. लगभग 5000 से अधिक श्रद्धालुओं के भाग लेने की संभावना है.

Advertisement

इस कार्यक्रम में लोगों से बड़ी संख्या में भाग लेने की अपील पूर्व सरपंच चंद्रशेखर विरखेड़े कोराडी उपसरपंच अमर बाघमारे, पंचयत सदस्य केशरतै बेलेकर, ग्रामपंचायत सदस्य विजय बरडे, कृष्णा भोयर, सुमित बाघमारे, देवेन्द्र सावरकर मामा, भोस्कर, मंदा पाखी, सुवर्ण फुलझर सरिता यादव, विदेश वाघमारे और ज्योति तितरमारे आदि ने किया है.

Advertisement

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement