Published On : Tue, Jul 29th, 2014

कोराडी : बीएसएनएल के टॉवरों में नहीं बैटरी, कनेक्शन पड़े बंद


नागपुर जिले में सभी टेलीफोन टॉवर 31 अगस्त तक शुरू होंगे


बेस-बेलतरोड़ी-पिपला में लगेंगे आप्टिकल फायबर केबल

कोराडी

bawankule
नागपुर जिले के अधिकांश गांवों में बीएसएनएल के लैंडलाइन कनेक्शन बंद पड़े हैं. कई जगह तो कनेक्शन दिए ही नहीं गए हैं. विभिन्न कारणों से लोग बीएसएनएल को ही प्राथमिकता देते हैं. इसी मुद्दे पर हाल में विधायक चंद्रशेखर बावनकुले की पहल पर हुई बैठक में दूरसंचार विभाग नागपुर जिला के महाप्रबंधक आर.एम. पटेल ने बताया कि
नागपुर जिले में बीएसएनएल के कुल 1 लाख 19 हजार लैंडलाइन कनेक्शन हैं. साथ ही ब्रॉड बैंड कनेक्शन 39 हजार हैं. जिले में बीएसएनएल के 303 टॉवर हैं, जिसमें सी.डी.एम.ए. टॉवर की संख्या करीब 50 है. टॉवर के लिए लगने वाली बड़ी बैटरी 17 लाख की आती है और इस बैटरी की आयु 4 वर्ष होती है. ग्रामीण क्षेत्र के टॉवरों की सभी बैटरियां कमजोर हो गई हैं, जिससे सिग्नल मिलने में परेशानी होती है.

800 टेलीफोन 2 साल से बंद  
बैठक को संबोधित करते हुए विधायक बावनकुले ने कहा कि, वडोदा-भुगांव, महालगांव, गुमथला सर्कल की टेलीफ़ोन सेवा बंद पड़ी है. कोराडी – महादुला के 800 टेलीफोन 2 साल से बंद पड़े हैं. साथ ही बेसा-बेलतरोड़ी-थोगली की लैंडलाइन सेवा बंद है. कई नागरिकों को कनेक्शन दिए ही नहीं गए हैं. इस पर टेलीफोन विभाग के महाप्रबंधक ने बताया कि महादुला-कोराडी की टेलीफोन सेवा 31 अगस्त तक शुरू कर दी जाएगी.

उल्लेखनीय है कि, 4 लेन रास्ता विस्तारीकरण के काम में सभी केबल्स टूट गए थे. इस वजह से ब्रॉडबैंड कनेक्शन बंद हो गए हैं. इससे विद्यार्थियों का ऑनलाइन काम देरी से होता है. वहीं कई विद्यार्थियों को इन परेशानियों का भी सामना करना पड रहा है.

बेसा-बेलतरोड़ी में लगेगा कैंप
विधायक ने लैंडलाइन सेवा नांदा-पुनर्वसन गांव तक बढ़ाने की मांग की. महाप्रबंधक ने बताया कि वडोदा, भुगांव, महालगांव, गुमथला के बंद टॉवर का काम जल्द से जल्द पूरा कर लिया जाएगा. बेसा-बेलतरोड़ी में बीएसएनएल के उपभोक्ताओं के समक्ष आ रही समस्याओं के निराकरण के लिए कैंप का आयोजन करने की जानकारी भी महाप्रबंधक ने दी. बावनकुले ने कहा कि, बेसा-बेलतरोड़ी में ‘शिक्षा हब’ क्षेत्र घोषित होगा, परंतु बीएसएनएल की उचित सुविधाएं नहीं होने के कारण टेलीफोनधारकों को कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है. उन्होंने बीएसएनएल नागरिकों के लिए कैंप लगाने और लैंडलाइन कनेक्शन पिपला-धोगली तक बढ़ाने की मांग भी की.

टावर एक्सचेंज बैटरी के लिए मिले 1.5 करोड़
महाप्रबंधक पटेल ने बताया कि, गत 4 वर्ष में बीएसएनएल के टावर एक्सचेंज बैटरी के लिए कुल 1.5 करोड़ निधि प्राप्त हुई थी. परंतु एक्सचेंज में इस्तेमाल करते हुए बैटरी जल गई. ग्रामीण क्षेत्रों में बड़े टॉवरों पर बैटरी नहीं बदलने से सिग्नल नहीं पकड़ता. इस बारे में विधायक बावनकुले ने कहा, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के सहयोग से बीएसएनएल बैटरी के लिए आवश्यक फंड उपलब्ध कराया जाएगा. अगर यह प्रयास सफल हुआ तो ही बीएसएनएल सेवा ठीक से काम करेगी.

बेसा टेलीफोन एक्सचेंज की स्थिति
बेसा परिमंडल क्षेत्र में कुल 360 लैंडलाइन कनेक्शन और 235 ब्रॉडबैंड कनेक्शन हैं. सी.डी.एम.ए. कनेक्शन की संख्या 100 है. मोबाइल्स टूजी बी.टी.एस की संख्या 04 व थ्रीजी बी.टी.एस की संख्या 04 है. ऑप्टिकल फायबर केबल केवल बसा एक्सचेंज तक सीमित है.

बेसा-बेलतरोड़ी-पिपला-धोगली गांव तक ऑप्टिकल फाइबर केबल बढ़ाने के संबंध में पटेल ने कहा कि उक्त गांव में ग्राहक संख्या बढ़ने पर ही फाइबर केबल का विचार किया जाएगा. राजेश्वर पार्क, त्रावणकोर, स्वप्निल नगर, बेसा चौक, उन्नति पार्क, व्यंकटेश सिटी, नीलकमल नगर तक सेवा उपलब्ध कराने संबंधी प्रपोजल बनाया गया है.
इस दौरान सहायक प्रबंधक एस.के. नाकतोड़े, उपप्रबंधक पी. वी. गजभिये, सहायक प्रबंधक वी. बी. वनखड़े, उपअभियंता पी. सी. रामटेके, पी. के. शहारे, एस.एस. टेंभुर्ने, शाखा अभियंता क्रांतिकुमार अादि उपस्थित थे.