Published On : Wed, Jul 9th, 2014

कोराडी : आशियाने की बाँट जोह रहे मिहान प्रकल्पग्रस्त


कोराडी 

koradi mh
मिहान विमान परियोजना के अंतर्गत मौजा दहेगांव कलकुठी ,खापरी ,तेल्हारा आदि गावो के रहवासियो को अभी तक नए भूखंड नहीं मिल पाए है. इस समस्या को लेकर एम ए डी सी के मुख्य अभियंता चाहांदे की अध्यक्षता में एक जनता दरबार का आयोजन किया गया. इस समय लगभग 350 प्रकल्पग्रस्तों को भूखंड का मुआवजा न मिल पाने की समस्या को उठाया गया. इस समय यह भी निश्चित किया गया कि इस समस्या को लेकर केन्दीय मंत्री नितिन गडकरी, जिलाधिकारी और एम ए डी सी की मुख्यअभियन्ता आदि की संयुक्त बैठक का आयोजन किया जायेगा. इसमें प्रकल्पग्रस्त परिवार के किसी एक सदस्य को नौकरी अथवा 5 लाख का मुआवजा और परसोड़ी ग्रामपंचायत के अंतर्गत भूखंड दिए जाने की बात रखी जाएगी. इसके आलावा पुनर्वसन नियम 1999 के आधार पर सम्पूर्ण कार्यवाही किए जाने की भी बात कही जाएगी.

इस समय अपर जिलाधिकारी मनोहर हिवरे ने कहा की कलकुठी खापरी दहेगाव तेल्हारा आदि गावों में समस्याग्रस्तों की संख्या 792 थी जिनमे से 706 नागरिको को मकान दिए जा चुके है उपरोक्त गावो में से 4 गांवों में दिनांक 6 से 7 दिसंबर 2013 से 7 मई 2014 तक 157 किसान परिवारों को तथा 57 आम परिवारों को भूखंड का आवंटन किया जा चूका है जबकि 158 प्रकल्पग्रस्त परिवार अभी भी मदद की बांट जोह रहे है.

इस समय मंच पर चंद्रशेखर ,बावनकुले, मिहान प्रकल्प के मुख्यअभियन्ता चाहांदे, अपर जिलाधिकारी मनोहर हिवरे , नागपुर पंचायत समिति के समूह विकास अधिकारी रमेश बागड़े, नायब तहसीलदार पी एम खेरकर, जिला पंचायत सदस्य रूपराव शिगड़े खापरी की सरपंच पार्वती अंतराम, ग्रामपंचयात सदस्य विट्ठल जुमदे और सेवक सोनटक्के आदि प्रमुख रूप से उपस्थित थे.

इस समय मिहान प्रकल्प के मुख्या अभियंता चाहांदे ने कहा की समस्या ग्रस्त परिसर में बिजली, पानी मीटर आदि कामो के लिए निर्धारित रक्कम दि जाएगी. इस समय जिला परिषद के सदस्य रूपराव शिंगड़े ने कहा की इस परिसर में विजली पानी की मुलभुत सुविधा न होने से नागरिक रहने से घबराते है. इस कार्यक्रम में 500 से अधिक नागरिक उपस्थित थे.