Published On : Sat, Jul 26th, 2014

कामठी : सेलु गांव के मामा तालाब के ढह जाने का खतरा, आमदार बावनकुले ने अधिकारीयों को दिये आवश्यक निर्देश


कामठी

MLA Bawankule
तहसील के वडोदा-भुगांव जिला परिषद क्षेत्र के अंतर्गत आनेवाले सेलु गांव के मालगुजारी तालाब में विगत 3 दिनों से हुई रही बारिश से लबालब पानी भर गया है. परंतु तालाब के ओवरफ्लो होने पर पानी निकलने के लिए जो गेट खोले जाते हैं उन्हें किसानों द्वारा बंद कर दिए जाने से तालाब के फुट जाने का धोखा निर्माण हो गया है. दुर्भाग्य से ऐसी घटना हुई तो संपूर्ण गांव जलजल समाधिस्थ हो जायेगा. ऐसी जानकारी मिलते ही आमदार चंद्रशेखर बावनकुले ने गावं का दौरा कर वह की जानकारी ली.

इस समय तालाब से पानी छोड़े जाने वाले स्रोतों को तुरंत खोलने तथा तालाब की संरक्षक दीवार को मजबूती प्रदान करने हेतु निधि की मांग आमदार चंद्रशेखर बावनकुले ने की है. इस समय गावं वालों ने बताया की गर्मी के दिनों में लोग चंदा जमा करके लगभग 30 हजार जमा कर जेसीबी के माध्यम से तालाब को गहरा करवाया था तथा उसी मिटटी से तालाब के सुरक्षा दीवार खड़ी करवाई थी और इसी दीवार ने गांववासियों को अभी तक बचाये रखा है. ऐसा स्पष्ट हुआ है.

इसी दौरान आमदार बावनकुले ने लघु सिंचाई विभाग की अधीक्षक श्रीमती पाटने, कार्यकारी अभियंता गीरी, आवश्यक निर्देश देकर तालाब के प्राकृतिक रास्ते बंद हुए है. उसे पुलिस विभाग की सहायता से तुरंत खोलने को कहा है.

इस दौरान आमदार बावनकुले ने आश्वासन दिया कि, जो कोराडी और चिचोली के तालाब सौंदर्य के लिए मंजूर की गई है उससे इस तालाब को संरक्षित करने वाली दीवार बनाई जाएगी. इस समय जिला परिषद सदस्य विनोद पाटील, पंचायत सभापति संगीता तांबे, उपसभापति विमल साबले, पंचायत सदस्य अनीता चिकटे, सरपंच बेबीनंदा मेश्राम, उपसरपंच होमेश्वर गेडेकर, भाजपा तहसील अध्यक्ष रमेश चिकटे और विशाल चमाट आदि उपस्थित थे.