Published On : Thu, Jul 24th, 2014

उमरखेड़ तालुका को सूखाग्रस्त घोषित करें


भाजपा की मांग, जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा

उमरखेड़

sukhgrast
उमरखेड़ तालुका भाजपा ने जिलाधिकारी से तालुका को सूखाग्रस्त घोषित करने की मांग की है. पूर्व विधायक उत्तमराव इंगले और तालुकाध्यक्ष भोजूसिंह नाईक (चव्हाण) के नेतृत्व में एक शिष्टमंडल ने किसानों को आर्थिक सहायता देने की भी मांग की. ज्ञापन उपविभागीय अधिकारी की मार्फ़त जिलाधीश को भेजा गया.

भाजपा ने ज्ञापन में मांग की है कि सूखे से निपटने के लिए जरूरी है कि ओलावृष्टि से वंचित किसानों को तुरंत मुआवजा दिया जाए. अलावा इसके गेहूं, चना, कपास को ओलावृष्टि से हुए नुकसान की भरपाई देने, 2013-14 के रबी के मौसम में भरे गए बीमा की राशि तत्काल देने, मनरेगा के तहत किए गए कुओं और पगडंडियों के कार्यों के मेहनताने का भुगतान तुरंत करने, कृषि संजीवनी योजना का लाभ देने के बजाय किसानों का बिजली बिल पूरी तरह माफ करने, तीसरी बार बुआई के लिए सरकारी मदद के साथ ही कर्ज भी देने, मवेशियों के लिए चारा छावनियां बनाने, कृषि पंपों को नियमित बिजली आपूर्ति करने, पैनगंगा नदी में इसापुर बांध का पानी छोड़ने, जरूरतमंद लोगों को तत्काल राशन कार्ड देने और फसल कर्ज का पुनर्गठन कर तत्काल कर्ज का वितरण करने जैसी मांगें शामिल हैं.

शिष्टमंडल में भाजपा के रमेश चव्हाण, अधि. राजेश्वर राचेवार, प्रा. हरीश पाचकोरे, विजय आड़े, संजय भंडारे, नारायण इटकरे, विलास माने, नामदेव ससाणे, अरुणभाऊ केंद्रेकर, दीपक ज्ञानचंदानी, दत्ता माने, बालू हामंद, शंकर माने, पप्पू माने, मारोती माने, संतोष काले, सुनील टाक, संतोष बाबरे, माधव व्यास आदि शामिल थे.