Published On : Mon, Apr 21st, 2014

अमरावती: महाराष्ट्र दिन पर बेमियादी अनशन की चेतावनी

 

विधायक अनिल बोंडे ने बेमौसम बारिश, ओला  पीड़ितों को मुआवजा देने की मांग

अमरावती.

विदर्भ में 17 जनवरी को हुई ओलावृष्टि के कारण जिले में 32,932.17 हेक्टेयर क्षेत्र प्रभावित हुआ, जिसे शासन द्वारा घोषित विशेष पैकेज में शामिल नहीं किया गया है. मोर्शी के विधायक अनिल बोंडे ने सरकार को चेतावनी दी है कि महाराष्ट्र दिन परएसडीएम कार्यालय के सामने वे बेमियादी अनशन आरंभ करेंगे.

उन्होंने बताया कि दिसंबर 2013 तथा जनवरी 2014 को हुई बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि से अमरावती जिले की 23,547.89हेक्टेयर फसल तथा 9,384.28 हेक्टेयर फलों की खेती को क्षति पहुंची है. चुनाव दौरान जिले में आए सभी वरिष्ठ पदाधिकारियों ने पीड़ितों को राहत दिलाने का विश्‍वास दिलाया था. लेकिन 20 मार्च को खेती एवं फल उत्पाद नुकसान संबंधी शासन के राजस्व और वन विभाग द्वारा जारी किए परिपत्रक में फरवरी तथा मार्च माह के पीड़ित किसानों के लिए विशेष पैकेज की घोषणा की गई थी. राज्य सरकार ने केंद्र द्वारा घोषित दरों को दुगना कर किसानों को राहत देने का प्रयास किया है. कुछ समय बाद राज्य शासन ने अपनी ओर से 11अप्रैल को परिपत्रक जारी किया. जिसमें राज्य आपत्ति प्रतिसाद निधि से किसानों को मुआवजा देने की घोषणा की गई.

अपनी नाराजगी प्रकट करते हुए अनिल बोंडे ने राज्य के मुख्य सचिव सहारिया, पालकमंत्री राधाकृष्ण विखे पाटिल, सचिव मिलिंद म्हैसकर से चर्चा की. साथ ही दोनों परिपत्रक में कुछ बदलाव सुझाए हैं. इनमें मुख्य रूप से जनवरी में हुई ओलावृष्टि पीड़ितों को 20 मार्च के अध्यादेश में शामिल करने की मांग है. साथ ही 11 अप्रैल के परिपत्रक में निर्धारित दरों में विशेष पैकेज की दरों के अनुसार वृद्धि करने की मांग की है.

Anil-Bonde