Published On : Sat, Aug 9th, 2014

अमरावती : अतिवृष्टि ग्रस्तों को तत्काल मदत के लिए मोर्चा


आघाडी का किया पंचनामा

शिवसेना ने दिखाई ताकत

अमरावती

Shivsena-Morcha-News-Photo
अतिवृष्टिग्रस्त, ओलावृष्टिग्रस्त व बाढ़ग्रस्त को दुबारा बुआई के लिए तत्काल मदद देने की मांग को लेकर शिवसेना ने शुक्रवार को जिलाधिकारी कार्यालय पर विशाल मोर्चा निकाला. इस दौरान हर मोर्चे पर नाकाम साबित होने का आरोप लगाकर आघाडी सरकार का पंचनामा किया. सांसद आनंदराव अडसूल के नेतृत्व में निकाले गये इस मोर्चे में जिलो से शिवसैनिक उमड पड़े. इस तरह विधानसभा चुनाव के मुहाने पर पार्टी ने अपना शक्ति प्रदर्शन किया.

2 दिन छुट्टियां रद्द
नये जिलाधीश गीते ने प्रतिनिधिमंडल को भरोसा दिलाया की बाढ़ग्रस्त को तत्काल मदद दिलाने प्रशासन मुस्तैदी से काम कर रहा है. पदभार संभालने के तुरंत बाद संबंधीत अधिकारियों से मीटिंग लेकर संपूर्ण जानकारी ली. विभागीय अधिकारी राजुरकर के साथ फौरी दौरे पर निकल रहे है. बाढ़ व अतिवृष्टि के चलते जिला प्रशासन में सभी अधिकारिओं व कर्मियों की अगले दो दिन की छुट्टियां रद्द कर दी गई है. जिसमे राजस्व व कृषि विभाग शनिवार व रविवार को डयूटी बजाएंगा. दो दिन में रिपोर्ट पेश होने के बाद बाढ़ग्रस्तों को मदद घोषित की जाएगी.

अविलम्ब निपटाएं सर्वे
बाद में सांसद के नेतृत्व में आंदोलनकारियों का प्रतिनिधि मंडल नये कलेक्टर किरणकुमार गीते से मिला. उन्हें बताया गया की, वर्ष 2003-04 में जिस तरह बाढ़ में चांदुर बाजार, दर्यापुर, अंजनगांव सुर्जी,अचलपुर में संतरा,पान व केले समेत अन्य फसलों का जबरदस्त नुकसान हुआ था,ठीक उसी तरह इस वर्ष भी बाढ़ ने किसानो को कही का नहीं छोड़ा. इस बाढ़ में 19-20 गावों में सैकड़ों लोगों के मकान और फसल भी बह गयी. नाफेड ने अब तक तुअर,चना की रकम नहीं दी है. तत्काल संबंधित किसानों को यह रकम ब्याज समेत दी जाए. इस दौरान महानगर प्रमुख दिगंबर दहाके, बालासाहब भागवत, नाना नागमोते, अमोल निस्ताने, सुधीर सूर्यवंशी,दिनेश वानखेड़े समेत सैकड़ो शिवसैनिक सहभागी हुये.


नारों से गूंज उठा परिसर
इर्विन चौक में डॉ.बाबासाहब आंबेडकर की प्रतिमा को माल्यापर्ण कर दोपहर ठीक 1.30 बजे पार्टीजनों का मोर्चा कलेक्टर ऑफिस के लिये रवाना हुआ. जय भवानी,जय शिवाजी,के नारो के बीच शिवसैनिकों ने आघाडी सरकार के खिलाप जमकर नारेबाजी की. सांसद अडसूल,पूर्व सांसद अनंत गुढे, विधायक कैप्टन अभिजीत अडसूल, पूर्व विधायक संजय बंड भी शिवसैनिकों के साथ मोर्चे में पैदल कलेक्ट्रेट पहुंचे. ढोल ताशो ने राहगीरों का ध्यान खींचा. हालाँकि कलेक्टर ऑफिस के पास पुलिस ने मोर्चे को रोकने का प्रयास किया. पर शिवसैनिकों ने पुलिस के कड़े बंदोबस्त के बाद भी कलेक्ट्रेट में प्रवेश किया. इस समय सांसद ने शिवसैनिकों को शांत किया.

अंबानगरी में दे एम्स

  • शिवसैनिकों ने केंद्र सरकार द्वारा विदर्भ लिये मंजूर एम्स अंबानगरी में स्थापित करने की मांग की गयी. बाढ़ग्रस्तों को इंदिरा, राजीव व आंबेडकर वाल्मीकि आवास योजना के तहत मकान बनाकर दिए जाएं. शहरी भागों में संजय गांधी व श्रावण बाल योजना के कई प्रकरण प्रलंबित है. नियमो के अनुसार हर 3 माह में बैठक होनी चाहिए, लेकिन डेढ़ वर्ष बाद यह बैठक हो रही है. जिससे लाभार्थियों को वंचित रहना पड रहा है.
  • गुढे ने मांग की के सिंचाई विभाग के कारण चांदुर बाजार तहसील के 19-20 गावों में जो नुकसान हुआ है. उसके लिये संबंधित अधिकारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिये. मनपा में विपक्षी नेता प्रा. प्रशांत वानखेड़े ने कलेक्टर से मांग की के शहर में बीपील का सर्वे दुबारा किया जाए. वर्ष 2007 में बनाई गई बीपीएल सूचि अबतक घोषित नहीं की गयी. जिससे कई विधवाएं मदद से वंचित है.
  • जिला सरकारी अस्पताल में कई वर्षो से सिटी स्कैन बंद है. जिले भर के रोगी यहाँ आते है, लेकिन वापस लौटना पड़ रहा है. इर्विन-डफरिन में रोगियों का उपचार सही ढंग से हो. रात के समय बिजली कंपनी के कर्मचारी नदारद रहते है. बारिश में पोल गिरने पर भी कोई सुध नहीं ली जाती.