Published On : Tue, May 13th, 2014

साकोली : बढ़ती महंगाई में सर्वजातीय सामूहिक विवाह समय की जरूरत


मनोहरभाई पटेल अकादमी की अध्यक्ष वर्षा पटेल ने कहा


22 जोड़े विवाह-बंधन में बंधे


साकोली

Vivah Sohala
ग्रामीण भागों में किसान, खेतमजूर और गरीब जनता को होनेवाले आर्थिक, मानसिक और शारीरिक कष्ट को कम करने तथा विवाह समारोहों में होने वाले अपव्यय को रोकने के उद्देश्य से सर्वजातीय सामूहिक विवाह समारोह का आयोजन आज समय की जरूरत बन गया है. बढ़ती महंगाई पर मात करने के लिए सामूहिक विवाह समारोह जरूरी हो गए हैं. इससे समाज के हर वर्ग को आपस में जोड़ने में मदद मिलती है.

मनोहरभाई पटेल अकादमी की अध्यक्ष श्रीमती वर्षा पटेल ने यह बात कही. वे अकादमी के तत्वावधान में साकोली के सेंदुर्वाफा में आज 13 मई को आयोजित सामूहिक विवाह समारोह में बोल रहीं थी. इस समारोह में 22 जोड़े विवाह बंधन में बंधे. उन्होंने कहा कि लोकसभा की आचार संहिता के कारण इस वर्ष सामूहिक विवाह समारोह के आयोजन में विलंब हो गया. श्रीमती पटेल ने चुनावी कारणों से सांसद और केंद्रीय मंत्री प्रफुल्ल पटेल के समारोह में नहीं आने पर क्षमा मांगते हुए कहा कि ऐसा पहली बार हुआ है.

वर -वधू को आशीर्वाद
इस अवसर पर पूर्व मंत्री नानाभाऊ पंचबुद्धे, पूर्व मंत्री बंडूभाऊ सावरबांधे, विधायक ग़ोपाल अग्रवाल, पूर्व विधायक डॉ. हेमकृष्ण कापगते, पूर्व विधायक सेवक वाघाये आदि ने समारोह में मार्गदर्शन कर वर -वधू को आशीर्वाद दिया. समारोह में बौद्धों के विवाह बौद्धधर्मीय पद्धति से और हिंदुओं के विवाह वैदिक पद्धति से संपन्न कराए गए. विवाहों का पौरोहित्य भदंत धम्मदीप महाथेरो, बोधानंद गुरुजी, विठोबा कांबले, मोतीराम बाबा सपाटे महाराज ने किया.


Vivah Sohala 1

मनोरंजन कार्यक्रम भी पेश
समारोह का प्रास्ताविक भाषण सुनील फुंके ने किया, जबकि कार्यक्रम का संचालन प्राचार्य होमराज कापगते ने किया. इस मौके पर लावणी और मनोरंजन कार्यक्रम भी पेश किए गए. कार्यक्रम में विधायक राजेंद्र जैन, पूर्व विधायक दिलीप बनसोड, हातमाग महामंडल के अध्यक्ष धनंजय दलाल, अविनाश ब्राम्हनकर, उदाराम राखडे, मधुकर लिचड़े, श्रीमती प्रमिला फुटे, पूर्णा पटेल, जि.प. सदस्य सुनीता कापगते, प.स. सदस्य जया भुरे सहित भाऱी संख्या में लोग उपस्थित थे.