Published On : Thu, Jun 11th, 2015

शाखा अभियंता के पास 1 करोड़ की संपत्ती 50 हजार रिश्वत का मामला

RAID
आरमोरी (गड़चिरोली):
मनरेगा के काम के बदले रिश्वत मांगने वाले आरमोरी पंचायत समिती के शाखा अभियंता को एसीबी ने 9 जुन को रंगेहात पकड़ा। उक्त कार्रवाई के बाद एंटी करप्शन ब्युरो ने आरोपी के अलग-अलग निवासस्थान पर छापा मारा। जहां 1 करोड़ की संपत्ति का पता चला.
प्राप्त जानकारी के अनुसार शिकायतकर्ता ने महाराष्ट्र ग्रामीण रोजगार योजना (मनरेगा) अंतर्गत सन 2014-2015 ग्राम पचांयत वडधा मे काम किया था. इस काम के बिल के बदले अभियंता मनोज झेबजी मोटघरे ने शिकायतकर्ता से 50,000 रूपये की मांग की. शिकायतकर्ता की शिकायत पर एंटी करप्शन ब्युरो गड़चिरोली ने आरोपी को रिश्वत लेते गिरफ्तार किया। गिरफ्तारी के बाद एसीबी टीम ने मनोज मोटघरे के नागपुर और आरमोरी निवास स्थान पर छापा मारा। दोनों जगह से नगद रकम, बैंक में जमा रकम, प्लॉट्स, गाड़ियां, सोना और घर का सामान मिलाकर 1,01,15,370 की संपत्ती उजागर हुई.

उक्त कार्रवाई पुलिस अधीक्षक राजीव जैन के मार्गदर्शन में पुलिस उपअधीक्षक रोशन यादव, पुलिस निरीक्षक डी.डब्लू,मंडलवार और सहकारी कर्मचारी ने की.