Published On : Mon, Aug 25th, 2014

वरोरा : पत्थर बरस रहे हैं हफ्ते भर से 6 घरों पर


कॉलरी वार्ड में जुटी तमाशबीनों की भीड़, पुलिस भी तैनात


वरोरा

stone on house
कोई नहीं जानता कि ये पत्थर कहां से आते हैं, लेकिन दिन और रात बस पत्थर बरसते रहते हैं. पत्थर फेंकनेवाले व्यक्ति की तलाश के लिए जमी भीड़ के सामने भी पत्थर गिरते हैं. आखिर कौन है जो पत्थर फेंक रहा है? और यह सब एक-दो दिन से नहीं, बल्कि पूरे सात दिनों से जारी है. पत्थर स्थानीय कॉलरी वार्ड में रहने वाले 6 परिवारों के घर पर बरस रहे हैं. लोग परेशान हैं. पुलिस भी परेशान है. मगर कोई कुछ नहीं कर पा रहा है. इन पत्थरों से कुछ लोग और बच्चे जख्मी भी हो चुके हैं. इसलिए लोग डरे हुए हैं.

नागरिक, बच्चे जख्मी
कॉलरी वार्ड में रहने वाले विनायक मडावी, मारोती मडावी, सुनील कोहाड, विनोद कोहाड, आरिफ शेख, धर्मदास जीवने, चंद्रकुमार गावंडे, सूर्यकुमार गावंडे और गिरिजाबाई लढी के घरों पर पिछले सात दिनों से दिन-रात पत्थर बरसते रहते हैं. एक पत्थर सूर्यकुमार गावंडे की आंख में लगा, जिससे वे जख्मी हो गए. खेलते हुए बच्चों को भी पत्थर लगे हैं. स्नेहल कोहाड और पुष्पा मडावी को चोट लग चुकी है.

stone on house
पुलिस भी बेबस

डरे और घबराए नागरिकों ने पुलिस में शिकायत की. पुलिस अधिकारी भी चार दिनों से अपनी टीम को लेकर घटनास्थल पर बैठे हैं, मगर पत्थर फेंकनेवाले का पता नहीं चल पा रहा है. सब आश्चर्यचकित हैं. पत्थर बरसने की खबर पूरे वार्ड और शहर में फैल गई है. इन घरों के सामने रोज सैकड़ों लोगों की भीड़ जुट रही है, केवल बरसते पत्थरों को देखने के लिए.

जादू-टोना का शक
सात दिन बाद भी जब पत्थर फेंकने वाले का पता नहीं चल पाया है, तो लोग अब जादू-टोना का शक करने लगे हैं. लेकिन पुलिस का मानना है कि कोई है जो आपसी द्वेष के चलते इस काम को अंजाम दे रहा है. पुलिस नागरिकों और बच्चों को बचाने में नाकाम रही
है.