Published On : Wed, May 21st, 2014

मूल : डॉक्टरों की लापरवाही के कारण महिला का हांथ सड़ने की राह पर


लापरवाही से इंजेक्शन देने का मामला

मूल

Injection
ग्रामीण रुग्णालय में इलाज करवाने पहुंची एक महिला के हांथ में गलत पद्धती से इंजेक्शन देने की वजह से महिला का हांथ सड़ने के राह पर है. गौरतलब है की महिला को बुखार आया था और उसे अस्पताल ले जाया गया था. इलाज के दौरान महिला के दाएं हांथ में नर्स ने इंजेक्शन दिया लेकिन इंजेक्शन दिए जाने के बाद से ही महिला के हांथ में तेज़ दर्द होने लगा. जानकारी के मुताबिक़ महिला हांथ सड़ने की राह पर है.

सावली तालुके के चांदली (बुज) की रहवासी आयशा राकेश गुंडावार को 9 मई 2014 को अस्पताल लाया गया था. उसके चेकअप के बाद ग्रामीण रुग्णालय की नर्स सपना बावने ने उसके हांथ में इंजेक्शन दिया. इंजेक्शन लगने के कुछ ही समय बाद आयशा के हांथ में ज़बरदस्त दर्द होना शुरू हो गया. पहले तो आयशा को लगा की इंजेक्शन लगने के कुछ वक्त तक दर्द होना आम बात है लेकिन रात तक भी दर्द कम नहीं हुआ और हांथ काफी सूज गया. सुबह तक आयशा के हांथ में पस भर गया. जब दर्द और सूजन कम नहीं हुआ तब आयशा फिरसे 15 मई को ग्रामीण रुग्णालय गई जहां डॉकटरों ने उसे गडचिरोली जिला सामान्य रुग्णालय में भर्ती होने की सलाह दी.


बहरहाल आयशा को गडचिरोली जिला सामान्य रुग्णालय में भर्ती किया गया है. पीड़ित आयशा का कहना है की नर्स की लापरवाही की वजह से उसका हांथ सड़ने की राह पर है. महिला ने सावली ग्रामीण रुग्णालय के वैद्यकीय अधिकारी डॉ. सालवे को जानकारी दी है की वो दो महीने की गर्भवती थी और इन सबके कारण उसका गर्भपात हो गया है.

पीड़िता की मांग है की दोषी नर्स पर कार्यवाई हो साथ ही पीड़ित महिला को मुआवज़ा दिया जाए. राष्ट्रवादी के ब्रम्हपुरी विधानसभा अध्यक्ष प्रशांत गाडेवार, भाजपा तालुका सचिव सतीष बोम्मावार, गौरव संतोषवार, मनोज चौधरी, मनोहर गेडाम ने भी महिला को जल्द न्याय देने की मांग की है.

इस मामले में फिलहाल नर्स सपना बावने को कारण बताओ नोटिस दिया गया है. इस प्रकरण की रिपोर्ट जिला आरोग्य अधिकारी को भेजा जाएगा ऐसी जानकारी सावली ग्रामीण रुग्णालय के वैद्यकीय अधिकारी डॉ. सालवे ने दी.