Published On : Sat, Aug 23rd, 2014

मूल : जनप्रतिनिधियों के बीच बचाव से कामगारों को मिला न्याय


राजोरी स्टील प्लांट के कामगार थे आमरण अनशन पर


मूल

काम पर वापस लेने की मांग को लेकर आमरण अनशन कर रहे राजोरी स्टील प्लांट के कामगारों का अनशन जनप्रतिनिधियों के बीच बचाव से समाप्त हो गया है. कंपनी के प्रबंधन ने उनकी मांग मान ली है.

प्राप्त जानकारी के अनुसार मूल तालुका की आकापुर एमआईडीसी में एक़ साल पहले प्रारंभ राजोरी स्टील प्लांट कच्चे माल की कमी के चलते दो माह पहले बंद हो गया था. इसके बाद कंपनी प्रबंधन ने कुछ कामगारों को निकाल दिया था. यही कामगार वापस काम पर लेने की मांग कर रहे थे. कई दिनों से जारी आंदोलन के बाद कर्मचारियों ने करो या मरो की भूमिका अपनाते हुए आमरण अनशन शुरू कर दिया था. लेकिन आज उन्हें न्याय मिल गया.

जनप्रतिनिधियों ने कामगारों को न्याय दिलाने और कंपनी के पूर्ववत शुरू होने की भूमिका ली और कंपनी के संचालक श्री मूंदड़ा और हबीब दाऊद मेमन के साथ बातचीत की. आखिर बातचीत में हल निकल आया. जिन प्रतिनिधियों ने कामगारों और कंपनी प्रबंधन के बीच मध्यस्थता की उनमें मूल पंचायत समिति के पूर्व सभापति तथा सदस्य संजय मारकवार, कृषि उत्पन्न बाजार समिति के सभापति राकेश रत्नावार, तालुका कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष घनश्याम येनुरकर, कांग्रेस के सचिव रोशन लाडे शामिल थे. मूल के तहसीलदार सोनवने, नायब तहसीलदार संजय राइंचवार, पुलिस निरीक्षक सुनील ताजणे के मार्गदर्शन में उपनिरीक्षक रामटेके, जमादार वासुदेव ने भी समस्या के हल में महती भूमिका निभाई.

file pic

file pic