Published On : Tue, Jul 22nd, 2014

भिवापुर : अवमानना के आरोपी ने अपराध कबूला


भिवापुर में स्थिति शांत, ससुर को फंसाने कार्रवाई को दिया अंजाम


भिवापुर

डॉ. बाबासाहब आंबेडकर के पुतले की अवमानना के मामले में शनिवार को उमरेड से गिरफ्तार आरोपी राजेश फकीरचंद चांदेकर (35) ने अपना अपराध कबूल कर लिया है. संदेह के आधार पर हिरासत में लिए गए भोयर द्वारा दी गई जानकारी के आधार पर यह कार्रवाई की गई. आरोपी भोयर का दामाद बताया जाता है. इस बीच, गांव में स्थिति फिलहाल शांतिपूर्ण है, मगर पुलिस अभी भी स्थिति पर कड़ी नजर रखे हुए है.

पत्नी से अनबन
राजेश कलमेश्वर तालुका के वलनी का निवासी है. उसकी पत्नी का मायका उमरेड में है. किन्हीं कारणों से पति-पत्नी के बीच सब-कुछ ठीक नहीं है, जिससे वह अपने मायके में ही रहती है. बताया जाता है कि राजेश का मानना था कि अलगाव उसके ससुर के कारण ही हुआ है. इसीलिए ससुर को सबक सिखाने के उद्देश्य से उसने बाबासाहब के पुतले पर काला रंग डालकर अवमानना की थी. बताया जाता है कि इस घटना में अपने ससुर को फंसाने के लिए ही उसने घटनास्थल पर डायरी, विवाह पत्रिका और अन्य कागजात छोड़ दिया था.

घटना के बाद से छिपा हुआ था मंदिर में
संदेह के आधार पर पुलिस ने उमरेड से भोयर को हिरासत में लिया था. उसके बाद जांच में राजेश का नाम सामने आया था. इसी के बाद पुलिस ने मध्य रात्रि के आसपास उसे श्रीराम सिनेमा के पीछे एक मंदिर से गिरफ्तार किया. पिछले तीन-चार दिन से राजेश उमरेड में रह रहा था और घटना के बाद से मंदिर में छिपा हुआ था. जांच में राजेश ने अपना अपराध कबूल कर लिया.

गुस्सा और रोष
इस बीच, कल दिन भर गांव में तनाव कायम था. आंबेडकरी जनता में अभी भी गुस्सा और रोष व्याप्त है. पुलिस उपविभागीय अधिकारी शंकरसिंह राजपूत, थानेदार मनीष दिवटे, तहसीलदार शीतल यादव आदि ने लोगों को समझा-बुझाकर स्थिति को शांतिपूर्ण बनाने में खूब मेहनत की.

Representational Pic

Representational Pic