Published On : Sat, Jun 7th, 2014

ब्रह्मपुरी : किसानों में अंसतोष : वि. देशकर ने की अधिकारीयों से चर्चा


ब्रह्मपुरी

Atul Deshkar
वाघोली बुटी उप्सा सिंचाई योजना अंतर्गत लघु नहर व उपलघु नहर के लिए 234 किसानों की जमीन सरकार ने सन 2001-02 को निजी तरीके से व किसानों की मंजूरी से संपादित किया. परंतु तेरह साल का वक्त बीत जाने के बाद भी किसानों को मुआवजा नहीं मिला है. इस वजह से किसानों में सरकार के प्रति रोष निर्माण हुआ है. शुक्रवार को वि. अतुल देशकर ने कुछ किसानों के साथ विभागीय कार्यालय में जाकर अधकारियों से चर्चा की. आज के शासकीय दर से शीघ्र गणक के अनुसार जो प्रती हेक्टयर रकम आती है उसके मुताबिक खरीद किसानों को त्वरित मुआवजा दिया जाए ऐसी मांग सरकार से की.

ईस भूसंपादन प्रकरण में बहुत विलंब होने से व राजस्व विभाग की तरफ से इस मामले में जल्द कार्रवाई ना होने से व प्रकरण में विभिन्न कलम द्वारा कार्रवाई होने से बहुत समय लग रहा है. तेरह साल पूर्व सरकार की ओर से जमीन संपादित किए जाने के बावजूद भी किसानों को मुआवजा दिया नही गया है. इस वजह से किसानो पर भूखों मरने की नौबत आ गई है. तुरंत किसानों को मुआवजा दिया जाए, ऐसी मांग वि.देशकार ने की है. अन्यथा आंदोलन करने की चेतावनी वि. देशकार ने दी.