Published On : Sat, Jun 21st, 2014

बल्लारपुर : महिला पर बाघिन ने किया हमला ; महिला की मौत


बल्लारपुर

attack by tiger
जंगल में लकडियां चुनने गई महिला पर बाघिन ने हमला कर दिया जिसमे महिला की मौत हो गई. घटना शुक्रवार सुबह 9.30 बजे के दौरान मानोरा के जंगल में हुई. मृत महिला का नाम जुबेदा शेख वाहीद शेख (46) है. मानोरा निवासी झिंगुबाई पेन्दोर, अनिता कन्नाके, सुल्काबाई, इंदूबाई कन्नाके व जुबेदा शेख जंगल में जलाऊ लकडियां चुनने गई थी. जंगल के अंदर थोडि थोडि दूरी पर महिलाएं लकडियां चुन रही थी. इस दरम्यान हिरणों के झुंड का पीछा करती एक बाघिन वहां पहुंची और इन महिलाओं को वहां देखकर हिरणों का पीछा छोड. जुबेदा शेख पर हमला कर दीया. वह उसका शव घसीटते हुए कुछ दूर ले गई और उसके सीने पर बैठ गई. उसकी दर्दनाक मौत देखकर भयभीत अन्य महिलाएं उमरी-मानोरा मार्ग पर आकर एक आटो चालक को सुचना दी. मोबाइल से मनोरा गांव में इसकी सूचना दी. जिसके बाद पूरा गांव जंगल की ओर दौड. पडा. कई लोगों ने इस बाघिन को महिला के उपर बैठे देखा. उसे भगाने का प्रयास कर रहे लोगों पर उसने हमला करने का प्रयास किया.

attack by tiger
घटना की जानकारी मिलते ही बल्लारशाह के वनपरिक्षेत्र अधिकारी एम.एम.मोरे, सहायक वनअधिकार हन्फी, वन रक्षक लाटकर, आस्वले, दुर्गेकर, उमरी के थानेदार जी.के. शेख, बल्लारपुर थाने के एएसआई चौधरी, हेड कांस्टेबल खनके अपने सहयोगियों के साथ मौके पर पहुंचे. मृतक के परिवार को तत्काल मदद के रूप में 25 हजार रुपए प्रदान किया गया. जुबेदा के शव को पोस्टमार्टम के लिए पोंभुर्णा ग्रामीण अस्पताल भेजा गया. इस बीच लोगों ने इस बाघिन को जल्द पकडने की मांग वन विभाग से की.

जुबेदा शेख मूलत: मानोरा की निवासी थी. जब उसका बेटा शेख इस्माईल 4 वर्ष का था तभी उसके पिता की मृत्यु हो गई थी. जिसके वाद वह अपने बेटे के साथ मानोरा में अपने पिता के घर चली आई. इस्माईल मानोरा के जि.प. मराठी स्कूल में कक्षा 6 वीं में पढता है. सिर्फ माँ ही उसके जीवन का आधार थी. अब इस्माईल अनाथ हो गया है.