Published On : Mon, Jun 23rd, 2014

पवनी : श्रीवासुदेवानंद सरस्वती महाराज का पुण्यतिथि उत्सव 27 से


पवनी में चार दिनों तक होंगे विविध धार्मिक कार्यक्रम

पवनी

wasudevanandहर साल की तरह इस बार भी प. पू. श्रीवासुदेवानंद सरस्वती महाराज का पुण्यतिथि समारोह व स्वामी महाराज के साधना मंदिर का पांचवां स्थापना दिवस शुक्रवार 27 जून से 30 जून तक मनाया जाएगा. इस अवसर पर स्वामी महाराज के साधना मंदिर में उत्सव सेवा मंडल द्वारा विविध धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया है.

प. पू. श्रीवासुदेवानंद सरस्वती स्वामी महाराज ने पवनी में 1909 में अपना 19 वां चातुर्मास वैनगंगा नदी के किनारे किया था. उनके निवास से पावन हुई विदर्भ की काशी के नाम से पहचानी जाने वाली पवनी नगरी में पांच वर्ष पूर्व महाराज का भव्य मंदिर बनाया गया है. करवीर पीठ का शंकराचार्य विद्यानृसिंह भारती स्वामी महाराज के शुभ हाथों प. पू. श्रीवासुदेवानंद सरस्वती स्वामी महाराज की मूर्ति की प्राणप्रतिष्ठा की गई थी. स्वामी महाराज के भव्य मंदिर के अलावा एक भक्त निवास का निर्माणकार्य भी सेवा मंडल की तरफ से किया गया है.

प्रवचन, गायन, अभिषेक
27 जून को दोपहर 3 बजे ‘लोकांची शाला’ नागपुर की अध्यापिका व नाना महाराज तराणेकर की शिष्या वैशाली काले का ‘स्वामी महाराज का चातुर्मास व भाव समाधि समारोह’ पर प्रवचन होगा. शनिवार 28 जून को महाराज की पुण्यतिथि के मौके पर सुबह 7.30 से 8.30 बजे कृष्णदास सेवा मंडल नागपुर का प्रभाती गीत गायन कार्यक्रम होगा. उसके बाद धुंडीराज पिंपलापुरे के मार्गदर्शन में यजमान भालचंद्र चिंचालकर की तरफ से लघुरुद्र अभिषेक, दोपहर 12 बजे आरती व 1 से 4 बजे तक महाप्रसाद वितरण होगा. रविवार 29 जून को नागपुर के वेदमूर्ति कृष्णाशास्त्री आर्वीकर की तरफ से यज्ञ यागादि अनुष्ठान, दोपहर 2 बजे अहिल्यादेवी भजन मंडल महाल नागपुर का पाउल भजन होगा. सोमवार 30 जून को स्वामी महाराज मूर्ति प्राणप्रतिष्ठा कार्यक्रम पंचम वर्धापन दिन के अवसर पर महापूजा व आरती होगी. रोज शाम 6 बजे साधना मंदिर त्रिपदी परिवार की तरफ से स्वामी महाराज की करुणात्रिपदी होगी.

लाभ लें, सहयोग भी दें
इन सभी कार्यक्रमों का स्वामी भक्त तथा दत्त भक्तों से लाभ लेने व चार दिन तक चलनेवाले इन कार्यक्रमों में उपस्थित रहकर यथाशक्ति सहयोग करने का आवाहन प. पू. श्रीवासुदेवानंद सरस्वती स्वामी महाराज सेवा मंडल पवनी के विश्वस्त मंडल ने किया है.