Published On : Sat, Aug 30th, 2014

परतवाड़ा (अमरावती) : आदिवासी चौकीदार की बेटी के साथ गैंग रेप


पिता और मदद करने आए चौकीदार को भी पीटा


घटना के बाद दोनों को बंद कर दिया खेत में बनी झोपड़ी में


परतवाड़ा (अमरावती)

परतवाड़ा तालुका के ग्राम सावली बु. में एक खेत में रहकर बरसों से रखवाली कर रहे एक आदिवासी चौकीदार की युवा बेटी की इज्जत को दो युवकों ने तार-तार कर दिया. इन युवकों ने सामूहिक बलात्कार के पहले युवती के पिता और उसके एक साथी की जोरदार पिटाई भी की. बाद में दोनों को झोपड़ी में बंद कर भाग खड़े हुए. शुक्रवार की सुबह जब इस मामले का खुलासा हुआ तो इलाके में खलबली मच गई. पुलिस अधीक्षक विरेश प्रभु तक को सुबह-सुबह दौड़कर घटनास्थल पर आना पड़ा. वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने घटनास्थल का मुआयना किया. इस बीच, पुलिस अधीक्षक ने कहा है कि आरोपियों को जल्दी ही ढूंढ लिया जाएगा.

पत्नी को छोड़ आया था गांव में
प्राप्त जानकारी के अनुसार मध्यप्रदेश के आठनेर का निवासी एक परिवार पिछले 20 साल से चौकीदारी कर रहा है. सावली बु में विजय प्रजापति के खेत में चौकीदारी कर रहा यह परिवार करीब तीन माह पहले हमेशा की तरह अपने गांव गया था. लेकिन जब परिवार का प्रमुख गांव से लौटा तो पत्नी साथ नहीं, बल्कि बेटी उसके साथ आई थी. पत्नी गांव में ही ठहर गई थी. तब से दोनों खेत में बनी झोपड़ी में रहकर खेत की रखवाली कर रहे थे.

शाम से ही नजर थी युवती पर दोनों की
पीड़ित युवती के अनुसार गुरुवार की शाम 5 बजे के आसपास तीन अज्ञात युवक खेत में आए और युवती से उसके पिता के संबंध में पूछताछ करने के बाद लौट गए. इसके बाद रात 11 बजे दो अज्ञात युवक फिर आए. दोनों ने चौकीदार के संबंध में पूछताछ की. बाप-बेटी उस वक्त खेत की अपनी झोपड़ी में ही थे. अचानक दोनों युवक झोपड़ी में घुस गए और चौकीदार की पिटाई करने लगे. चौकीदार की चीख-पुकार सुन पड़ोस के खेत में रखवाली कर रहा ओझा नामक चौकीदार अपने साथी की मदद के लिए दौड़ा-दौड़ा आया. लेकिन युवकों ने उसकी भी खूब पिटाई की. यह देख जब लड़की झोपड़ी से बाहर भागने लगी तो दोनों युवकों ने उसे पकड़ लिया और दोनों नराधमों ने रात दो बजे तक उसके साथ मुंह काला किया. इस बीच युवती के पिता को झोपड़ी में बंद कर दिया गया और दोनों फरार हो गए.

पूरा पुलिस महकमा पहुंचा घटनास्थल पर
इस घटना की जानकारी सुबह खेत-मालिक को दी गई और गांव में खलबली मच गई. जख्मी चौकीदार को अस्पताल में भरती किया गया और पुलिस को घटना की सूचना दी गई. जानकारी मिलते ही पुलिस अधीक्षक विरेश प्रभु, अपर पुलिस अधीक्षक, उपविभागीय पुलिस अधिकारी, थानेदार बोबडे घटनास्थल पर पहुंचे. युवती का बयान लिया गया. इस मामले में पुलिस ने अज्ञात आरोपियों के खिलाफ अपराध दर्ज किया है और अपराधियों को खोज रही है.


Representational Pic

Representational Pic