Published On : Mon, Jul 21st, 2014

नागपुर : कुंभारी गांव का पुनर्वसन कर एनटीपीसी बिजली प्रकल्पग्रस्तों को नौकरी दी जाये – आमदार चंद्रशेखर बावनकुल

Advertisement


नागपुर

kum
जिले के मौदा तहसील के कुंभारी गांव और गांव की खेती की जमीन मौदा एनटीपीसी परियोजना के लिए जो अधिकृत की गई थी. उन किसानों को योग्य जगहा पर तथा वही पर किसानों को एनटीपीसी बिजली निर्माण प्राधिकरण में नौकरी दी जाने का निर्देश आमदार चंद्रशेखर बावनकुले ने दिया है.

हाल ही मे एनटीपीसी कार्यालय में इनके महाप्रबंधक वी.थंगपांडियान,अपर महाप्रबंधक व्ही शिवप्रसाद, व्यवस्थापक प्रशांत सिंग, अभियंता विकास बडोदेकर, उपविभागीय अधिकारी बोरकर, तहसीलदार शिवराज पडोले और प्रकल्पग्रस्त किसान आदि इस दौरान उपस्थित थे.

Advertisement
Advertisement

आमदार बावनकुले ने इस दौरान कुंभारी गांव का पुनर्वसन कर जमीन अधिकृत की. प्रकल्पग्रस्तों को प्रमाणपत्र देने प्रकल्पग्रस्तों को नौकरी देने तथा प्रति एकड़ ज़मीन 40 लाख रुपये के हिसाब से दे. महाराष्ट्र शासन पुनर्वसन प्राधिकरण के सामने यह करार हुआ है. उसके हिसाब से प्रकल्पग्रस्त गावों को मूलभूत सुविधा दे. सीएसआर योजना में 2 करोड़ की निधी प्रत्येक बाधित गांव व रेलवे से बाधित प्रत्येक गांव को 50 लाख की निधी के अंतर्गत विकास काम करे. कुंभारी गांव का पुनर्वसन नागपूर-भंडारा महामार्ग पर किया जाये. एनटीपीसी रेल्वे लाईन के बाबदेव रेल्वे लाईन के विभाजित मार्ग के डांबरीकरण को तुरंत करने के निर्देश आमदार बावनकुले ने एनटीपीसी अधिकारी को दिए हैं.

इन सभी निर्देशों का पालन एक-एक करके करने से परियोजना से ग्रसित लोगों को पूर्णतः न्यायदेने का प्रयत्न किया जायेगा ऐसा एनटीपीसी के समुह महाप्रबंधक वी.थंगपांड़ीयांन ने बताया है. इस दौरान नरेश मोटघरे, हरीश जैन, एकनाथ मदनकर, बेनीराम तिघरे, सुखदेव मडके, सुनीता पाराशर, मंदा पंचवटे, अनिल वानखेड़े, अमोल राउत साथ ही किसान प्रतिनिधी माणिक डोंगरे, नामदेव पिकालमुंडे, किसनराव गोरले, मणिक वड़े, शिवशंकर नारनवरे, संजय डोंगरे और प्रकल्प बाधित गांव के सुशिक्षित बेरोजगार प्रमुख रूप से उपस्थित थे.

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement