Published On : Mon, Jul 13th, 2020

ट्रेन से सफर कर रहा था कोरोना संक्रमित युवक, नागपुर में उतारा गया

नागपुर । दिल्ली से सिकंदराबाद जा रहे कोरोना संक्रमित युवक को नागपुर रेलवे स्टेशन पर उतारा गया। वह नई दिल्ली-बंगलुरु (02692) से यात्रा कर रहा था। दूसरी ओर, बंगलुरु-दानापुर संघमित्रा एक्सप्रेस (02295) में यात्रा कर रहे 19 वर्षीय युवक को ट्रेन में अचानक सांस लेने में तकलीफ होनी शुरू हुई। आनन-फानन उसे भी यहीं उतार लिया गया। दोनों को मेयो अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

कोविड हेल्पलाइन नंबर पर सूचना देने के बाद भी कोई नहीं आया यात्री के पास

नई दिल्ली-बंगलुरु 02492 के बी-7 कोच के 10 नंबर बर्थ पर यात्रा कर रहे युवक को सिकंदराबाद में उतरना था। यात्रा से पहले दिल्ली में कारोना जांच के लिए नमूना लिया गया था। रास्ते में यात्री के फोन पर दिल्ली से कॉल आया। जानकारी दी गई कि उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। उस युवक ने फौरन कोविड हेल्पलाइन पर इसकी जानकारी दी। नागपुर रेलवे स्टेशन पर उसकी ट्रेन रविवार सुबह करीब 10:40 बजे पहुंच गई थी। सूत्रों की मानें तो उसने स्टेशन पर काफी देर इंतजार किया कि सरकारी स्तर से कोई उसके पास आएगा। परंतु कोई नहीं आया। करीब 11.50 बजे वह खुद डिप्टी एसएस के कक्ष में पहुंचा और खुद को कोरोना पॉजिटिव होने की जानकारी दी। डिप्टी एसएस ने इसकी जानकारी रेलवे अस्पताल को दी। अस्पताल से डाॅ. हरीश पीपीई किट पहन कर आए और यात्री को मेयो अस्पताल में भर्ती कराया गया।

…और घबरा गए बोगी के यात्री

बंगलुरु-दानापुर संघमित्रा एक्सप्रेस (02295) के कोच बी-3 बर्थ 24 पर यात्रा कर रहे 19 वर्षीय युवक काे अचानक सांस लेने में तकलीफ होने लगी। यह देखकर आसपास के यात्री घबरा गए। कुछ यात्रियों ने इसकी जानकारी टीटीई को दी। इसके बाद कंट्रोल रूम को सूचित किया गया। ट्रेन नागपुर पहुंचने से पहले सहायक मंडल चिकित्सा अधिकारी डॉ. हरीश प्लेटफार्म पर पहुंच चुके थे। ट्रेन आते ही यात्री को तुरंत नागपुर रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म पर उतारा गया और वहां से मेयो अस्पताल में भर्ती कराया गया।