Published On : Sat, Apr 19th, 2014

जीवन-मूल्यों की पहचान में विफलता ही है समस्याओं की जड़ : प्रा. मिसाल


विद्यार्थियों का व्यक्तित्व विकास शिविर संपन्न 

Tumsarतुमसर. 

Advertisement

हर विद्यार्थी को इतना सक्षम होना चाहिए कि वह अपने जीवन के मूल्यों की पहचान कर सके. इन मूल्यों के साथ ही जीवन में आगे बढ़ना चाहिए. हम अपने जीवन-मूल्यों की पहचान नहीं कर पाते, इसीलिए हमारे जीवन में समस्याएं आती हैं. इनसे निपटने के लिए मानवीय-जीवन के मूल्यों की पहचान आवश्यक है. यह बहुमूल्य सलाह अंतर्राष्ट्रीय ट्रेनर प्रा. रविन्द्र मिसाल ने दी. वे मानेकनगर स्थित शिरिनबाई नेत्रावाला स्कूल में विद्यार्थियों के लिए आयोजित व्यक्तित्व विकास शिविर में बोल रहे थे.

Advertisement

जूनियर चेम्बर इंटरनेशनल की तुमसर शाखा के तत्वावधान में मानेकनगर स्थित शिरिनबाई नेत्रावाला स्कूल (सीबीएसई) में विद्यार्थियों के व्यक्तित्व विकास शिविर का आयोजन किया गया था. इस कार्यक्रम की अध्यक्षता जेसीआई तुमसर के अध्यक्ष रामदास राणा ने की, जबकि प्रमुख अतिथि के रूप में स्कूल के प्राचार्य बी. विमल, सचिव जयंत भोयर, प्रोजेक्ट डायरेक्टर देवेंद्र तलामके, उमाशंकर बोवले, पत्रकार अनिल कारेमोरे और अनिल गभने उपस्थित थे.

Advertisement

व्यक्तित्व विकास का सबक 

इस मौके पर विद्यार्थियों को व्यक्तित्व विकास का सबक सिखाते हुए प्रा. मिसाल ने बताया कि जीवन कैसे जिया जाए, समाज में कैसे व्यवहार किया जाए, व्यापार कैसे करें, अध्ययन कैसे करें, खेल कैसे खेलें, सामाजिक चेतना रखते हुए बड़े लोगों के साथ कैसे व्यव्हार किया जाए तथा माता -पिता का आदर और सम्मान कैसे करें.

प्रा.  मिसाल का परिचय कु वैष्णवी राणा ने कराया, जबकि कार्यक्रम का संचालन रावत सर तथा आभार प्रदर्शन जयंत भोयर ने किया. इस कार्यक्रम में भारी संख्या में विद्यार्थी और शिक्षक वृन्द उपस्थित था.

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement