Published On : Fri, Aug 22nd, 2014

चिमूर : निस्वार्थ सेवा करने वालों के पीछे खड़ी होती है जनशक्ति


मशहूर फिल्म अदाकारा सोनाली कुलकर्णी ने कहा


दही-हांडी प्रतियोगिता हुई, 12 मंडलों ने हिस्सा लिया


चिमूर

Bhavy dahi handi spardha Chimur ( Sonali Kulkarni)
कोई सामाजिक संगठन अगर लोकसेवा का व्रत लेकर निस्वार्थ भाव से काम करता है तो जनशक्ति उसके पीछे खड़ी होती है. युवाशक्ति संगठन द्वारा आयोजित दही-हांडी कार्यक्रम में आज उसी जनशक्ति के दर्शन हो रहे हैं. मशहूर फिल्म अदाकारा सोनाली कुलकर्णी ने यह बात कही.

स्थानीय नेहरू विद्यालय के प्रांगण में युवाशक्ति संगठन के तत्वावधान में आयोजित दही-हांडी प्रतियोगिता में बतौर प्रमुख अतिथि वे बोल रहीं थी. मंच पर सोनाली के अलावा युवाशक्ति संगठन के संस्थापक कीर्तिकुमार उर्फ बंटी भांगडिया, भाजपा नेता सुमनताई पिंपलापुरे, मंजुषा नाईक, होमदेव मेश्राम, माधवी नाईक, मोरेश्वर ठिकरे, मनीषा कावरे, अधि. महेश काबरा, मनीष तुमपल्लीवार, समीर राचलवार, गीता लिंगायत, डॉ. दिलीप शिवरकर, प्रकाश वाकडे, सभापति विनोद चोखरे, आशा मेश्राम और नीलम राचलवार उपस्थित थे.

कीर्तिकुमार भांगडिया ने कहा कि भगवान श्रीकृष्ण का दही-हांडी कार्यक्रम एकता की शक्ति का परिचय देता है. संपूर्ण आत्मविश्वास के साथ एकता के माध्यम से कार्य करने पर लक्ष्य तक पहुंचा जा सकता है. उन्होंने युवाशक्ति संगठन द्वारा किए गए कार्यों का ब्यौरा भी दिया.

दही-हांडी स्पर्धा में चंद्रपुर, वरोरा, चिमूर, सोनेगांव, नेरी के कुल 12 मंडलों ने हिस्सा लिया, जिसमें से चिमूर के प्रसन्ना बालगणेश मंडल ने 35 फुट ऊंची दही-हांडी फोड़ पुरस्कार अपने नाम कर लिया. मंडल को पुरस्कार के रूप में 31 हजार रुपए नगद और स्मृति-चिन्ह प्रदान किया गया. करीब दो घंटे चले इस कार्यक्रम में गोविंदा…आला….रे…के स्वर ने स्पर्धा में हिस्सा लेने वाले गोविंदाओं में जोश और उत्साह का संचार कर दिया था.


कार्यक्रम का संचालन और आभार प्रदर्शन युवाशक्ति संगठन के नेता अजहर शेख ने किया.