Published On : Wed, Jul 16th, 2014

चंद्रपूर : कोया उत्पादकों को मुआवज़ा घोषित;बीज कोष मूल्य वृद्धि का भी निर्णय


चंद्रपूर 

koya
चंद्रपूर जिले के कोया उत्पादकों को अतिवृष्टी की वजह से हुए नुकसान भरपाई व बीज कोष मूल्य वृद्धि का निर्णय सरकार ने लिया है. जिले के सावली व ब्रम्हपूरी तालुका के 70 लाभार्थियों को प्रती व्यक्ति 3 हजार 200 रुपये उनके बैंक खाते में जमा होंगे.

वस्त्रोद्योग विभाग के अंतर्गत जिला रेशीम कार्यालय, पाथरी अंतर्गत जिले के सावली व ब्रम्हपूरी इन तालुका के ढीवर समाज के लोग पारंपारिक रूप से ऐन व अर्जून वृक्ष पर कोया का उत्पादन करते है. 2013-14 में वर्षा ऋतु में अतिवृष्टी से रेशम कोष उत्पादकों का बड़े पैमाने में नुकसान हुआ और उनको नुकसान भरपाई के लिए विद्यायक अतुल देशकर ने मांग की थी.

महसूल व वनविभाग ने 10 जून 2014 को कोया रेशीम उत्पादकों को नुकसान भरपाई देने का निर्णय लिया. नुकसान भरपाई के आदेश प्राप्त होने की जानकारी रेशम विकास अधिकारी श्रीधर झाडे ने दी.

जिले के कोया उत्पादकों को बीज कोष खरीदने के लिए प्रति बीज कोष 0.85 पैसे साथ ही प्रति कोष 1 रुपये 80 पैसे तक सरकार ने मूल्य वृद्धि मान्यता प्रदान की है. इससे बीजकोषा उत्पादकों को काफी फायदा होगा. इस प्रकार की नुकसान भरपाई की मदत पहली बार मिलने से व कोया मूल्य में वृद्धि होने से कोसा उत्पादकों में ख़ुशी और संतोष की लहर है.