Published On : Mon, Sep 8th, 2014

चंद्रपुर : बिजलीघर नहीं चला सकते तो एनटीपीसी को सौंप दें

Advertisement


सांसद अहीर ने मुख्यमंत्री से कहा, लगाए आरोप



Hansaraj Ahirचंद्रपुर

सांसद हंसराज अहीर ने मुख्यमंत्री पर पलटवार करते हुए कहा है कि राज्य के अधिकारक्षेत्र में 8 बिजलीघर हैं और अगर सरकार ये बिजलीघर नहीं चला पा रही है तो उन्हें एनटीपीसी को सौंप देना चाहिए. अहीर ने कहा कि राज्य सरकार इन बिजलीघरों को ठीक से चलाकर दिखाए, उसके बाद ही केंद्र पर आरोप लगाए.

निजी कंपनियों के फायदे के लिए
सांसद अहीर मुख्यमंत्री के उस बयान पर टिप्पणी कर रहे थे, जिसमें उन्होंने कहा था कि राज्य में बिजली के संकट के लिए केंद्र सरकार जिम्मेदार है. विधायक नाना शामकुले, विजय राउत, अनिल फुलझेले, खुशाल बोंडे और राजेश मून के साथ एक पत्र परिषद को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, महाराष्ट्र में 8 थर्मल पावर स्टेशन हैं, लेकिन इसमें से एक भी उसकी पूर्ण स्थापित क्षमता से नहीं चलाया जाता. सभी 50 से 55 प्रतिशत से अधिक बिजली उत्पादित नहीं करते. सांसद अहीर ने आरोप लगाया कि इसके पीछे भी राजनीति है. निजी कंपनियों के बिजलीघरों को पालने और उनसे ज्यादा दरों पर बिजली खरीदने के लिए ही ऐसा किया जाता है.

Advertisement
Advertisement

50 लाख करोड़ से अधिक का राजस्व
सुप्रीम कोर्ट ने कोयले के आवंटन के तरीके को अवैध ठहराया है. सांसद अहीर ने कहा, उन्होंने कोयले के घोटाले के संबंध में जो आरोप लगाया था वह सही साबित हुआ है. उन्होंने हर्ष व्यक्त करते हुए कहा कि आगामी समय में इसके खिलाफ उचित कार्रवाई होगी और देश की खूब संपत्ति बचेगी. उन्होंने उम्मीद जताई कि इससे देश का 50 लाख करोड़ से अधिक का राजस्व सरकार की तिजोरी में जमा हो सकेगा.

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement