Published On : Sat, May 17th, 2014

चंद्रपुर : पाचगांव में दारुबंदी का प्रस्ताव एकमत से पारित


महिला शक्ती का यल्गार

चंद्रपुर

Daru Bandi
पाचगांव में दो बीयरबार बंद करने का निर्णय ग्रामसभा में एकमत से लिया गया. इस फैसले से महिलाओं ने अपनी शक्ती का प्रमाण दिया है.

ब्रम्हपुरी तालुके के पाचगाव की तक़रीबन 500 लोगों की जनसंख्या है. इस छोटे से गांव में प्रथमेश व विनायक नाम के दो बीयरबार थे. आरमोरी में दिलीप जेठमल मोटवानी व प्रशांत मनोहर मोटवानी की ये दुकाने है. इन दो बारों के के कारण कई संसार उजड़ गए है, अनेक युवक शराब के व्यसन में फंस गए, महिलाओं की छेड़खानी की घटनाएं बढ़ी, ब्रम्हपुरी-गडचिरोली महामार्ग होने से सड़क दुर्घटनाए भी बढ़ी. इतना कुछ होने के बावजूद मोटवानी ने नई देशी शराब की दूकान शुरू करने की तैयारी की. कुछ महीने पहले महिलाओं ने ग्रामसभा में नई देशी शराब दूकान को मंजूरी देने से इंकार कर दिया और राष्ट्रसंत तुकडोजी महाराज दारुमुक्ती अभियान के माध्यम से दोनो शराब दूकान बंद करने की मांग जिलाधिकारी क्यू राज्य उत्पादन शुल्क विभाग में की.

इस मांग के लिए श्रमिक यल्गार के एड. पारोमिता गोस्वामी व यहां की सरपंच अरुण तिवाड़े ने इस मामले में पहल की. इसके बाद जिलाधिकारी ने ब्रम्हपुरी पंचायत समिति को ग्रामसभा लेने की बात कही. संवर्ग विकास अधिकारी सानप की अध्यक्षता में शनिवार को ग्रामपंचायत प्रांगण में महिला ग्रामसभा ली गई. इस ग्रामसभा में 145 में से 104 महिलाओं ने भाग लिया और सभी महिलाओं ने शराबबंदी के पक्ष में समर्थन दिया. एकमत से शराबबंदी का प्रस्ताव पारित हुआ.
सभा में नायब तहसीलदार घोरपडे, सरपंच अरुण तिवाड़े, दारुबंदी विभाग के कुमरे, पुलिस विभाग के कर्मचारी उपस्थित थे.