Published On : Wed, Jun 18th, 2014

चंद्रपुर : नाले की दीवार के लिए नाले में बैठकर आंदोलन


प्रहार संगठन का एक और अभिनव आंदोलन


तीन घंटे में हरकत में आई मनपा, काम भी शुरू

चंद्रपुर

18chd22
प्रहार संगठन द्वारा आज किए गए एक अभिनव आंदोलन के चलते तीन घंटे के भीतर ही चंद्रपुर महानगरपालिका प्रशासन हरकत में आ गया. नागपुर मार्ग स्थित टीवीएस शोरूम के पास से बहने वाले नाले की टूटी सुरक्षा दीवार को बनाने की मांग को लेकर प्रहार संगठन के जिलाध्यक्ष पप्पू देशमुख के नेतृत्व में नाले में बैठकर आंदोलन चलाया गया. इस आंदोलन से घबराए चंद्रपुर मनपा प्रशासन ने तत्काल जेसीबी मंगवारकर दीवार का निर्माण कार्य प्रारंभ करवा दिया.

एक साल पुरानी मांग
दरअसल, इस नाले की सुरक्षा दीवार पिछले दिनों गिर गई थी और इससे नानाजी नगर परिसर सहित कई इलाकों में बाढ़ की स्थिति पैदा हो जाती थी. साथ ही इससे प्राथमिक स्कूल के विद्यार्थियों के लिए भी खतरा पैदा हो गया था. इस सुरक्षा दीवार को बनाने की मांग पिछले एक साल से की जा रही थी. मगर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा था. आखिर बारिश के मद्देनजर आंदोलन किया गया, जिसका तत्काल असर भी हुआ. मनपा प्रशासन ने तीन घंटे के भीतर ही जेसीबी द्वारा खुदाई शुरू करवा दी. इसके बाद आंदोलन वापस ले लिया गया.

पुलों की ऊंचाई बढ़ाने की भी मांग
उक्त नाला नागपुर रोड, दत्त नगर, स्रेह नगर, साईबाबा वार्ड और स्वावलंबी नगर होते हुए इरई नदी में समा जाता है. इस नाले पर नानाजी नगर, दिनूजी भवन, दाताला रोड आदि स्थानों पर कम ऊंचाई के पुल बनाए गए हैं. ऊंचाई कम होने के कारण नाले का पानी आसपास के इलाकों में घुसकर बाढ़ की सी स्थिति पैदा कर देता है. देशमुख ने इन पुलों की ऊंचाई बढ़ाने की मांग भी की है.
आंदोलन में सतीश खोब्रागडे, नंदू पाहुणे, अक्षय येरगुडे, नेहाल भांदकर, अमोल ठाकरे, अजिंक्य शास्त्रकार, धनश्याम येरगुडे, प्रफुल बैरम, मोंटू कातकर, नीरज तंत्ररिवार, शाास्त्रकार, चरणदास वाडगुरे, अजय लांडे ने हिस्सा लिया.