Published On : Tue, May 6th, 2014

चंद्रपुर : नंदू नागरकर चंद्रपुर कान्ग्रेस के नए अध्यक्ष


नियुक्ति का शुरू हुआ विरोध

चंद्रपुर

Nandu Nagarkar
चंद्रपुर महानगर पालिका के पार्षद तथा पूर्व स्थायी समिति सभापति नंदू नागरकर चंद्रपुर शहर जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष पद पर नियुक्त किया गया है. यह नियुक्ति प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष माणिकराव ठाकरे के आदेश पर किए जाने की जानकारी पार्टी के महासचिव अधि. गणेश पाटिल ने दी.

श्री नागरकर ने निर्वतमान शहर कांग्रेस जिलाध्यक्ष गजानन गावंडे का स्थान लिया. गावंडे को पार्टी ने लोकसभा चुनाव में कथित पार्टी विरोधी गतिविधियों के कारण पार्टी से निलंबित कर दिया है. उनके स्थान पर ग्रामीण जिलाध्यक्ष प्रकाश देवतले को प्रभारी बनाया गया था. लेकिन चन्द दिनों बाद ही शहर जिला कांग्रेस अध्यक्ष पद पर नंदू नागरकर की नियुक्ति कर दी गई है.

लेकिन नागरकर की नियुक्ति से पुगलिया गुट में जबरदस्त नाराजगी है. पुगलिया सर्मथक कांग्रेस पार्षद श्रीमती उषा धांडे ने प्रदेशाध्यक्ष माणिकराव ठाकरे को पत्र लिखकर नागरकर को जिला काँग्रेस अध्यक्ष बनाने का विरोध किया है.

पत्र में नवनियुक्त शहर जिलाध्यक्ष नंदू नागरकर पर गंभीर आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा है कि चंद्रपुर शहर महानगर पालिका में पार्टी विरोधी काम करने के कारण जिस व्यक्ति को पार्टी से निलंबित कर दिया गया था, ऐसे व्यक्ति को चंद्रपुर शहर कांग्रेस के प्रभारी अध्यक्ष पद पर नियुक्त किया जाना तर्कसंगत नहीं है. उन्होंने यह भी कहा है कि चंद्रपुर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में संजय देवतले के विरोध में काम करने के झूठे आरोप में चंद्रपुर की महापौर संगीता अमृतकर, बल्लारपुर की नगराध्यक्ष रजनी मुलचंदानी, चंद्रपुर शहर अध्यक्ष गजानन गावंडे को पार्टी से निकाले जाने की जानकारी उन्हें अखबारों से मिली. इस संबंध में संबंधित पदाधिकारियों को पार्टी की ओर से कारण बताओ नोटिस तक जारी नहीं किया गया है. श्रीमती धांडे ने प्रदेशाध्यक्ष से पूछा है कि इस तरह पार्टी के संविधान के विरोध में काम करना कितना उचित है.

पत्र में उन्होंने कांग्रेस ग्रामीण जिलाध्यक्ष प्रकाश देवतले पर भी भ्रष्टाचार के आरोप लगाए हैं. साथ ही उन्होंने पक्षनिष्ठा के बारे में विचार करते हुए दोनों जिलाध्यक्षों की नियुक्ति पर पुनर्विचार करने के लिए अनुरोध किया है.