Published On : Mon, Apr 14th, 2014

गोंदिया: सालेकसा तालुका के 13 गांवों के नल भी सूखे, कंठ भी सूखे


बरसों से नहीं भरा बिजली बिल, कट गया कनेक्शन 

सालेकसा.

गोंदिया जिले के सालेकसा तालुका के 13 गांवों के नलों से बरसों से पानी नहीं आ रहा है. इन 13 गांवों की जलापूर्ति नल योजना के बिजलीकनेक्शन का बिल पिछले 5 सालों से नहीं भरा गया है, जिसके चलते इन 13 गांवों का बिजली कनेक्शन काट दिया गया है. तेज गर्मी में नलों के नहीं आने से ग्रामीणों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. मजे की बात ये है कि इन गांवों की जलापूर्ति योजनाओं के पास पानी तो है, मगर बिजली नहीं होने के कारण लोग पीने के पानी के लिए तरस रहे हैं.

सालेकसा तालुका के ग्राम तिरखेडी गांव पर 70 हजार 5  रुपए बिजली बिल बकाया है. इस गांव का कनेक्शन 21 जनवरी 2012 को काटा गया था. कवडी गांव पर 58 हजार 800 रुपए विद्युत बिल बकाया है. उसका कनेक्शन 4 दिसंबर 2012 को काट दिया गया. खेडेपार ग्राम पंचायत पर 72 हजार 250 रुपए विद्युत बिल था और उसका कनेक्शन 31 जनवरी 2001 को काट दिया गया. बोदलबोडी गांव पर 89 हजार 580 रुपए बिल है. दिसंबर 2012 में उसका विद्युत कनेक्शन काट दिया गया. गांधीटोला ग्राम पंचायत पर 1 लाख 58 हजार 60 रुपए बिल बकाया है.

3 मार्च 2003 से गांव की बिजली आपूर्ति खंडित कर दी गई. बाम्हणी ग्राम पंचायत पर 1 लाख 43 हजार 900 रुपए बिल बकाया है. कनेक्शन 28 जुलाई 2012 को काट दिया गया. पिपरटोला पर 52 हजार 800 रुपए बकाया बिल था और 31 अक्तूबर 2006 को बिजली आपूर्ति खंडित कर दी गई. लटोरी पर 60 हजार 160 रुपए बकाया थे. गांव का बिजली कनेक्शन 25 जून 2011 को और पांढरवाणी पर 69 हजार 400 रुपए बकाया बिल के लिए 18 सितंबर 2012 को विद्युत कनेक्शन काट दिया गया. 50 हजार 100 रुपए बकाया के लिए पाऊलदौना का कनेक्शन 23 जुलाई 2005 को और 61 हजार 30 रुपए बकाया के लिए भजेपार का कनेक्शन 24 फ़रवरी को काट दिया गया. कोटजंभुरा पर 1 लाख 23 हजार 800 रुपए जबकि गांधीटोला पर 60 हजार 800 रुपए बिल बकाया है.

Pic-6