Published On : Wed, Jun 4th, 2014

गोंदिया : योजना मंजुर होने के बावजुद कुंओं का निर्माण नही


गुमराह करने का आरोप

गोंदिया

Kuaa
विगत 2 वर्षों में एक भी कुएं का निर्माण नहीं करते हुये सडक़ अर्जुनी तहसील में किसानों के धान की फसल को बर्बाद करने का षडयंत्र करने का आरोप क्षेत्र के किसानों द्वारा लगाया गया. आरोप है कि खेतों के लिये पानी उपलब्ध हो सके इसके मद्देनजर विविध योजनाओं के तहत 7 कुएं निर्माण के लिए मंजूरी मिली थी. जो अभी तक पूर्ण नही की गई है. सडक़ अर्जुनी ग्रामपंचायत कार्यालय में 7 खेत कुंए के निर्माण को मंजूरी दी गई. किसानों का आरोप है कि गत 2 वर्षों से इनमें से अब तक एक भी कुआं का निर्माण नहीं किया गया है. किसानों को सिंचाई की सुविधा मुहैया कराने के लिए विविध योजना के माध्यम से शत-प्रतिशत अनुदान पर कुंए का निर्माण किया जाता है.

सडक़ अर्जुनी ग्राम पंचायत कार्यालय के विस्तार अधिकारी ए. हटवार ने बताया कि 7 कुओं को मंजूर मिली है. लेकिन कुआं निर्माण के लिए कुशल एवं अकुशल काम के लिए 40:60 का अनुपात है. इसके लिए ग्राम पंचायत को अपने स्तर पर कम से कम 20 लाख की लागत से मिट्टी खोदाई का कार्य करने पर एक कुएं का निर्माण हो सकेगा अन्यथा निर्माण नहीं हो सकेगा. इस संदर्भ में अधिक जानकारी के लिए खंडविकास अधिकारी एल. धांडे ने बताया कि पूर्व में कुंए निर्माण का कार्य पंचायत समिति स्तर पर किए जाते थे. जिससे कुंए का निर्माण कार्य होता था. लेकिन अब ग्राम पंचायत स्तर पर जब से कार्य किए जा रहे तब से कुंए का निर्माण कार्य में बाधा निर्माण हो रहा है. किसानों का आरोप है कि शासन उन्हें गुमराह कर रहा है. किसानों ने कुआ निर्माण की सारी बाधाएं दूर कर शीघ्र कुंए निर्माण कार्य शुरू करने की मांग की है.