Published On : Sat, Aug 2nd, 2014

गोंदिया : नकली नोट मामले में अकोला व वाशिम के 2 गिरफ्तार


6 अगस्त तक पुलिस रिमांंड

गोंदिया

नकली नोट मामले में आमगांव पुलिस ने अकोला व वाशीम जिले के 2 आरोपियों को गिरफ्तार कर नकली नोट मामले की जांच के लिए न्यायालय ने 6 अगस्त तक पुलिस रिमांड पर लेने का आदेश आमगांव पुलिस ने दिया है. आमगांव पुलिस ने 1 अगस्त को आरोपी अकोला निवासी मनोज दीपक पवार 35 व वाशीम जिले के बेलगांव निवासी शिवाजी उर्फ छगन गणपत भूतेकर को गिरफ्तार किया था.

गौरतलब है कि आमगांव पुलिस ने 10 जुलाई को नकली नोट मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया था. उनके पास से अलग-अलग सिरीज क्रमांक वाले 500 रुपए 34 जाली नोट बरामत हुए थे. पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर 11 जुलाई को न्यायालय में पेश किया था. आगे की जांच हेतु न्यायालय ने आमगांव के दोनों आरोपियों को 15 जुलाई तक पीसीआर सुनाया था. अन्य आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए आमगांव पुलिस अकोला रवाना हुई थी. लेकिन वहां से बैरंग लौटी थी. लेकिन 1 अगस्त को आमगांव पुलिस ने नकली नोट मामले में शिवाजी व मनोज को गिरफ्तार कर लिया है. आगे की जांच आमगांव पुलिस थाने के थानेदार डी.बी.मडावी के मार्गदर्शन में सहायक पुलिस निरीक्षक संजय पवार कर रहे है.

अब तक नकली नोट के 14 मामले दर्ज-गोंदिया जिले को अपराध की दुनिया में क्राईम सिटी के नाम से जाना जाता है. जिले में 6 वर्षो में 14 मामले नकली नोट के विभिन्न पुलिस थानों में दर्ज किए गए है. जिसमें से 12 मामलों का खुलासा कर आरोपीयों को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त हुई है. अकेले शहर पुलिस थाने में नकली नोट के 12 मामले दर्ज हो चुके है. वर्ष 2008 से 2013 तक 12 मामलों में से 1 मामले में आरोपीयों को गिरफ्तार किया जा चुका है. वहीं 11 नकली नोट के मामले के आरोपीयों की तलाश जारी है. जिसमें से अनेक शिकायतें बैंक प्रबंधक की ओर से की गई है.

और एक आरोपी होगा गिरफ्तार
आमगांव पुलिस ने आरोपी शिवाजी व मनोज को नकली नोट प्रकरण में 1 अगस्त को उनके निवास थानों से गिरफ्तार किया है. तीसरा मुख्य आरोपी दिपक पवार अभी पुलिस गिरफ्त से बाहर है. इस संदर्भ में जांच अधिकारी सहायक पुलिस निरिक्षक सचिन पवार ने बताया कि आमगांव के नकली नोट के पूर्व दो आरोपी दिपक पवार के संपर्क में आ गये थे. दिपक पवार मशीन से नकली नोट छापाकर दिया करता था. अकोला में दिपक पवार के खिलाफ नकली नोट का मामला दर्ज है. जल्द ही दिपक को नकली नोट मामले में हिरासत में लिया जाएगा. इस तरह की जानकरी सहायक पुलिस निरिक्षक सचिन पवार ने दी है.

representational pic

representational pic