Published On : Tue, Aug 19th, 2014

गडचिरोली : पेसा के खिलाफ धानोरा में निकला मोर्चा


मार्केट रखा बंद, किया चक्काजाम

गडचिरोली

morcha agains pesa (Gadhiroli)
महामहिम राज्यपाल द्वारा पेसा कानून अंतर्गत नौकरी के संदर्भ में निकाली गयी अधिसूचना रद्द करे, इस प्रमुख मांग को लेकर आज धानोरा तहसील में मार्केट बंद रखकर चक्काजाम आंदोलन किया गया. इसके बाद तहसील कार्यालय पर मोर्चा भी निकाला गया.

महामहिम राज्यपाल ने 9 जून 2014 को पेसा कानून अंतर्गत नौकरी संदर्भ की अधिसूचना निकालकर श्रेणी 3 व 4 के पदभरती में पेसा कानून अंतर्गत आनेवाले गावों में 100 प्रतिशत आदिवासी उमीदवार की पद भर्ती करे, ऐसा पंजीकृत है. इस अधिसूचना के कारण जिले के नौकरी भरती से गैरआदिवासी उमीदवार बाहर होनेवाले है. जिससे अधिसूचना रद्द करे इस प्रमुख मांग को लेकर आज मंगलवार को सुबह से धानोरा का मार्केट बंद रखा गया. शाला, महाविद्यालय भी बंद रखे गए. इसके बाद दोपहर 12 बजे धानोरा-गडचिरोली इस मार्ग पर चक्काजाम आंदोलन किया गया. इसके बाद तहसील कार्यालय पर मोर्चा निकालकर तहसीलदार मडावि को ज्ञापन सौपा गया.

आंदोलन का नेतृत्व गैर आदिवासी सुशिक्षित बेरोजगार संघटन के अध्यक्ष गजानन भोयर, गडचिरोली नप के उपाध्यक्ष प्रा. रमेश चौधरी, अभाविप के संदीप लांजेवार, दीपक मडके, नाना पाल, राजू रामपुरकर, साजन गुडावार, सादिक शेख, मलिक बुधवानी आदि ने किया. इस आंदोलन में भारी संख्या में नागरिक शामिल हुए थे.