Published On : Fri, Apr 25th, 2014

गडचिरोली : अतुल गण्यारपवार को 2 दिन का पीसीआर

23_ggp_513 लाख की रिश्वत लेने का मामला  

चामोर्शी कृषि उत्पन्न समिति के अंतर्गत निर्माणकार्य कर रहे ठेकेदार से 13लाख की रिश्वत लेते हुए नागपुर एन्टी करप्शन ब्युरो के जाल में फंसे जिला परिषद के कृषि व पशुसंवर्धन सभापति तथा चामोर्शी कृउबास के सभापति अतुल गण्यारपवार और कनिष्ठ लिपिक मंगेश राजापुरे को 24 अप्रैल को जिला व स्तर न्यायालय में पेश करने पर न्यायालय ने उन्हें 2 दिन के पुलिस हिरासत में रखने का आदेश दिया है.  

बतां दे कि, चंद्रपुर के ठेकेदार सुभाष कासनगोट्टूवार ने चामोर्शी के कृषि उत्पन्न बाजार समिति के निर्माणकार्य का ठेका लिया था. बिल मंजूर करने के लिए और इसके पूर्व पेश किए गए बिल के कमीशन के रूप में कृउबास के सभापति अतुल गण्यारपवार ने ठेकेदार कासनगोट्टूवार से 13 लाख रुपयों की मांग की थी. ठेकेदार कासनगोट्टूवार ने की शिकायत पर बुधवार 23 अप्रैल को नागपुर के एन्टी करप्शन ब्युरो के अधिकारियों ने चामोर्शी की बाजार समिति के कनिष्ठ लिपिक मंगेश राजापुरे को ठेकेदार कासनगोट्टूवार से 5 लाख रुपए नगद व 8 लाख रुपयों का बैंक ऑफ इंडिया के शाखा चंद्रपुर का चेक लेते हुए रंगेहाथ गिरफ्तार किया था.

बुधवार को रात के दौरान स्वास्थ संबंधी कारणों के चलते गण्यारपवार को जिला अस्पताल में दाखिल किया गया था. गुरुवार को सुबह अस्पताल से छूट्टी मिलने के पश्चात दोपहर के दौरान गण्यारपवार व राजापुरे को जिला व सत्र न्यायालय में पेश किया गया. जिला एवं सत्र न्यायाधीश (प्रथम) वाघमारे ने दोनों को 26 अप्रैल तक पुलिस हिरासत में रखने का आदेश दिया है. आरोपी की ओर से एड. बोरावर व एड. संजय ठाकरे ने पैरवी की.