Published On : Fri, Jul 18th, 2014

खामगांव : 55 हजार की रिश्वत लेते वनपाल समेत 2 गिरफ्तार


एसीबी पथक बुलढाणा की कारर्वाई


खामगांव

एक किसान के घर से जब्त गोंद के संबंध में कोई कार्रवाई नहीं करने के एवज में किसान से 55 हजार रुपयों की रिश्वत लेते हुए भ्रष्टाचार निरोधक विभाग (एसीबी) के एक दल ने वनपाल और वनमजूर को रंगे हाथ पकड़ लिया.

प्राप्त जानकारी के अनुसार संग्रामपुर तहसील के अंबाबरवा निवासी राजेश कोसरसिंह मोरे (23) ने एसीबी के पास दर्ज शिकायत में कहा था कि सोनाला वनपरिक्षेत्र के वनपाल सलीमख़ान गुलशेरखान धाड़ निवासी और वनमजूर रमेश कडु पाले (सायखेड निवासी) उनसे जब्त गोंद के बारे कारर्वाई नहीं करने के लिए 60 हजार रुपए की रिश्वत मांग रहे हैं.

जाल बिछाकर पकड़ा
इसी के आधार पर एसीबी पथक ने जलगांव जामोद मार्ग पर स्थित जामोद पेट्रोल पंप के सामने 17 जुलाई को जाल बिछाकर वनपाल सलीमख़ान की ओर से वनमजूर रमेश पाले को मोरे से 55 हजार की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ पकड़ लिया. इस दल ने सलीमख़ान एवं रमेश पाले को गिरफ्तार कर लिया है. जलगांव जामोद पुलिस थाने में इन दोनों के खिलाफ एक मामला भी दर्ज किया है.

यह कारर्वाई पुलिस अधीक्षक अरविंद सालवे, अपर पुलिस अधीक्षक तडवी, पुलिस उपअधीक्षक एस.एल. मुंढे के मार्गदर्शन में एएसआई भांगे, हे.कां. शेकोकार, नेवरे, गडाख, ढोकने, चोपड़े, शेलके, ठाकरे, जवंजाल, सोलंके, वारुले, राजनकर एवं यादव ने अंजाम दी.

4 दिन पहले ही पकड़ा था वरिष्ठ लिपिक को
4 दिन पूर्व ही एसीबी पथक ने जलगांव जामोद तहसील कार्यालय के वरिष्ठ लिपिक को 200 रुपयों की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ पकड़ा था. दिन ब दिन रिश्वत लेने वाले अधिकारी और कर्मचारियों की संख्या बढ़ती ही जा रही है. इस हिसाब से कार्रवाई में भी उतनी ही तेजी आई है.

Representational Pic

Representational Pic