Published On : Mon, Jun 30th, 2014

खामगांव : आम खाने से नाराज पिता ने बेटे को मार डाला


शराबी पिता की करतूत, सबूत मिटाने के लिए शव दफना भी दिया

खामगांव

शराब का नशा सिर पर ऐसा हावी हुआ कि मामूली विवाद पर पिता ने अपने ही जिगर के टुकड़े की गला घोंटकर हत्या कर दी. इतना ही नहीं, शराबी पिता ने सबूत मिटाने के लिए पुत्र की लाश को खेत में दफना भी दिया. दरअसल अलग रह रही पत्नी द्वारा लाए गए आम खाने से मना करने के बावजूद बेटे ने आम खा लिए थे. इसी से वह नाराज था. कुछ लोगों की सतर्कता से मामला उजागर हो गया. पुलिस ने आरोपी पर हत्या का अपराध दर्ज कर उसे गिरफ्तार किया है.

गुस्सा पड़ा भारी
प्राप्त जानकारी के अनुसार शेगांव तहसील के गव्हाण निवासी संतोष भगवान शिरसाट (40) और उसकी पत्नी उर्मिला के बीच विवाद होने के कारण उर्मिला अपने बेटे अंकुश, बुद्धभूषण और लडकी को लेकर गत 4-5 सालों से अपने मायके डोंगरगांव में रहती है. अभी गत 2-3 माह से बुद्धभूषण नामक लड़का संतोष के पास ही रह रहा था. 28 जून को संतोष की पत्नी उर्मिला बुद्धभूषण का नाम स्कूल में डालने के लिए मायके से गव्हाण आई थी. उस वक्त उर्मिला ने अपने साथ लाए आम खाने के लिए बुद्धभूषण को दिए. संतोष ने बेटे को आम खाने से मना किया. लेकिन बुद्धभूषण ने आम खा लिए. इससे नाराज संतोष ने बुद्धभूषण को माँ के साथ भेजने की बजाय अपने पास ही रख लिया. आम खाने से खफा संतोष ने 28 जून की रात में बुद्धभूषण की गला घोंटकर हत्या कर दी और दूसरे दिन सुबह उसका शव बोरे में डालकर गव्हाण परिसर के नील कंकाले के खेत में दफना दिया.

लाश बरामद, मामला दर्ज
लेकिन किसी तरह बात खुल ही गई. उसकी हत्या की जानकारी लोगों ने 29 जून को शेगांव ग्रामीण पुलिस को दी. पुलिस ने घटना की जांच कर आरोपी संतोष शिरसाट को गिरफ्तार किया और खेत में दफनाए गए बुद्धभूषण के शव को बरामद किया. इस मामले में पुलिस ने आरोपी संतोष भगवान शिरसाट के खिलाफ भादंवि की धरा 302, 201 के तहत मामला दर्ज किया है. आगे की जांच पुलिस कर रही है.

Representational Pic

Representational Pic