Published On : Fri, Jul 4th, 2014

कोंढाली : 12 घंटे में दो बार तबादला


कोंढाली, मेटपांजरा जिला परिषद प्रभाग में जारी मनमानी


बदले की भावना से तबादले करने का आरोप


कोंढाली

नागपुर जिले के काटोल विधानसभा क्षेत्र के कोंढाली और मेटपांजरा जिला परिषद प्रभाग में चुनाव-पूर्व तबादला-सत्र शुरू हो गया है. बताया जाता है कि अधिकांश तबादले बदले की भावना से किए गए हैं. इतना ही नहीं, एक महिला अधिकारी का तो 12 घंटे में दो बार तबादला कर दिया गया.

बदले की भावना से कार्रवाई
प्राप्त जानकारी के अनुसार काटोल तालुका के खापरी-चंदनपार्डी-मूर्ति और मेजपांजरा जि.प. प्रभाग के तहत ग्राम मसाला के ग्राम अधिकारियों का तबादला कुछ कार्यकर्ताओं के कहने पर किया गया है. बताया जाता है कि मसाला के ग्राम अधिकारी व खापरी के ग्राम अधिकारी (पटवारी) डेढ़ साल से तैनात हैं, मगर इन महीनों में इन अधिकारियों ने नियम के खिलाफ जाकर कोई काम नहीं किया है. प्रमाणपत्र भी नहीं दिया है. इससे ये कार्यकर्ता इनसे नाराज हैं और अपने करीबी नेताओं पर दबाव बनाकर अपनी सुविधानुसार ग्राम अधिकारियों के तबादले करवाने में लगे हैं.

डेढ़ साल में ही तबादला
खापरी के ग्राम अधिकारी को अभी डेढ़ साल ही हुए थे, मगर उनका तबादला पहले खुर्सापार किया गया, फिर 12 घंटे बाद ही इस महिला अधिकारी को मसाला क्षेत्र का आदेश थमा दिया गया. जबकि ऐसे भी कई अधिकारी हैं जो 7-8 सालों से एक ही जगह पर जमे हुए हैं. इससे इस क्षेत्र के नागरिकों में असंतोष व्याप्त है. इसका असर चुनाव पर पड़ने की आशंका भी जताई जा रही है.

जिनकी शिकायतें, उनका तबादला
इस संबंध में पूछने पर काटोल के उपविभागीय अधिकारी अविनाश बागड़े ने बताया कि जिन पटवारियों के संबंध में शिकायतें मिली हैं उन्हीं का तबादला किया गया है. उन्होंने कहा कि 7-8 साल से एक ही जगह पर जमे पटवारियों का भी तबादला किया जाएगा. हालांकि खापरी के नागरिकों का कहना है कि राजनीतिक दबाव के चलते ये तबादले किए गए हैं.

Representational Pic

Representational Pic