Published On : Mon, Jun 30th, 2014

कामठी : साफ-सफाई नहीं हुई तो कामठी में रास्ता रोक देंगे


भाजपा विधायक बावनकुले की चेतावनी


धरना दिया, तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा


कामठी

kamthi bawankule
कामठी क्षेत्र में बढ़ती गंदगी के विरोध में विधायक चंद्रशेखर बावनकुले सड़क पर उत्तर आए हैं. बावनकुले के नेतृत्व में गंदगी और साफ-सफाई नहीं होने के विरोध में महामार्ग पर तहसील कार्यालय के सामने एक दिवसीय धरने का आयोजन किया गया. आंदोलनकारियों ने तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा और नगर परिषद को 15 दिनों का समय दिया गया. इन 15 दिनों में साफ-सफाई नहीं होने पर रास्ता-रोको आंदोलन करने की चेतावनी दी गई.

गंदगी का साम्राज्य, उठती बदबू
ज्ञापन में कहा गया है कि हर साल शहर के नालों की सफाई के नाम पर लाखों रुपए उठा लिए जाते हैं, मगर वास्तविकता में कुछ नहीं होता. सर्वत्र गंदगी का साम्राज्य पसरा रहता है, जिससे उठती बदबू लोगों का जीना हराम किए रहती है. इससे पैदा होनेवाले मच्छर बीमारियां फैला रहे हैं. परिणाम, नागरिकों का स्वास्थ्य खतरे में पड़ गया है.

नालों का पानी घुसता है घरों में
अभी बारिश की शुरुआत में ही नालों की अवस्था को देखते हुए बारिश होने पर नालों का पानी लोगों के घरों में घुसना स्वाभाविक है. जरा सी बारिश में नाले, गटर लबालब भर जाते हैं. पानी घरों में घुसने लगता है और लोगों को नुकसान पहुंचाता रहता है. यहां के सफाई अधिकारियों का सफाई कर्मचारियों पर कोई नियंत्रण नहीं रह गया है. विधायक ने लापरवाही बरतने वाले कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग भी की.

कामठी बना गंदा शहर
ज्ञापन में कहा गया है कि शहर में जगह-जगह लगे कचरे के ढीग और नालों में बड़े पैमाने पर जमा कचरे को देख लगता है कि कहीं कामठी की पहचान गंदे शहर के रूप में तो नहीं है?
आंदोलन में भाजपा के प्रदेश सदस्य मोबिन पटेल, शहर भाजपाध्यक्ष मनीष वाजपेयी, विवेक भगेतानी, श्रीकांत शेंदरे, महेश महाजन, लाला खंडेलवाल, लालू यादव, मंगेश यादव, डॉ. संदीप कश्यप, गोपाल सीरिया, सुनील सियाम, रचना बिल्लखान, चंपा वाधवानी, शांताबाई गायघन, कल्पना खंडेलवाल, कपिल गायधने, प्रमोद गायधने, बंडू शेंडे सहित अनेक भाजपा कार्यकर्ता उपस्थित थे.