Published On : Fri, Jun 27th, 2014

काटोल : स्कूलों से कम्प्यूटर चुराने वाली गैंग पुलिस के हत्थे चढ़ी

Advertisement


काटोल, नरखेड़, उमरेड, अरोली, सावनेर से चोरी कबूली


चोरी का माल खरीदने वाले भी पकड़ाए, बोलेरो भी जब्त


काटोल

computers Theft
काटोल पुलिस ने आज 27 जून को चोरों के एक ऐसे गिरोह को पकड़ने में सफलता हासिल की है जो स्कूलों से कम्प्यूटरों पर हाथ साफ किया करता था. चोरों ने काटोल की चार स्कूलों के साथ ही उमरेड, नरखेड़, अरोली, सावनेर और कलमेश्वर की स्कूलों से भी कम्प्यूटरों की चोरी की बात कबूली है. चोरी का माल खरीदने वालों को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है. पुलिस ने चार चोरों को माल के साथ पकड़ा है. आरोपियों के पास से चोरी का माल लाने-ले जाने के लिए उपयोग की जाने वाली एक़ एमएच 40, ए 4089 क्रमांक की बोलेरो गाड़ी भी जब्त की गई है.

एक के बाद एक़ स्कूल बने निशाना
तालुका की गोविंदराव उमप हाईस्कूल येनवा से 12 कम्प्यूटर और अन्य सामग्री 14 जून को चुरा ली गई थी. लगातार स्कूलों से हो रही चोरियां पुलिस के लिए किसी चुनौती से कम नहीं थीं. इससे पूर्व चोरों ने ग्राम विकास विद्यालय मेटपांजरा से 9 मई को और केशवराव पवार हाईस्कूल काटोल से 13 मई को कम्प्यूटरों पर हाथ साफ किया था. ग्राम विकास विद्यालय रिधोरा में चोरों ने प्रयास तो किया था, मगर सफल नहीं हो पाए थे. इसके चलते इन चोरों की तलाश जिले के अनेक पुलिस स्टेशनों को थी.

गैंग लीडर था काटोल का ही
पुलिस ने बताया कि जिले में कम्प्यूटर-चोरी करने वाली इस गैंग का लीडर काटोल का ही था. पुलिस ने सबसे पहले रामदेवबाबा लेआउट निवासी वैभव प्रकाश कावडकर (24) को पकड़ा. उसकी निशानदेही पर गजानन सुरेश उरकुडे (20) सावली (पर्बत) झोपड़पट्टी निवासी, मोरेश्वर किसन कुमेरिया (22), गोन्ही प्रवीण उर्फ रोशन देवाजी सोमकुंवर (27) खुटांबा को गिरफ्तार किया गया. इन लोगों से चोरी का माल खरीदने वाले धनराज रामचंद्र वैद्य (38), निशांत केवलराव हजारे टिमकी नागपुर निवासी, प्रवीण तुलसीराम पराते जागनाथ बुधवारी नागपुर निवासी को माल सहित पकड़ लिया गया.

Advertisement
Advertisement

काटोल पुलिस का अभिनंदन
जिले में कम्प्यूटरों की चोरी बढ़ने से पुलिस प्रशासन का सिरदर्द भी बढ़ गया था. इन चोरों को पकड़ना उनके लिए एक बड़ी चुनौती बन गया था, मगर बाकी पुलिस स्टेशनों की तुलना में काटोल पुलिस स्टेशन ने इसमें बाजी मारी और चोरों को पकड़ने में सफलता हासिल की. काटोल पुलिस का सर्वत्र अभिनंदन किया जा रहा है. इस मुहिम में उपविभागीय अधिकारी विलास देशमुख और थानेदार भारत ठाकरे के मार्गदर्शन में पीएसआई अनिल मांडवे, कदम, हेका. निवृत्ति यावले, रत्नाकर ठाकरे, शेषराव राठोड़ और लखन महाजन ने मेहनत कर चोरों को धर दबोचा.

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement