Published On : Tue, Jun 24th, 2014

कलमेश्वर : दिन भर में 60 बार बंद होता है रेलवे गेट

Advertisement


कलमेश्वर-गोंडखैरी रेलवे क्रासिंग पर उड़ान पुल बनाने की मांग


कलमेश्वर

पिछले अनेक सालों से कलमेश्वर-गोंडखैरी रेलवे क्रासिंग पर उड़ान पुल बनाने की मांग नागरिकों द्वारा की जा रही है. लेकिन न तो जनप्रतिनिधियों का इस तरफ ध्यान है और न ही प्रशासन को इसकी कोई चिंता है. इस रेलवे क्रासिंग का गेट दिन भर में 60 से अधिक बार बंद होता है. इससे लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है.

विद्यार्थी भी परेशान
कलमेश्वर-गोंडखैरी मार्ग पर स्थित एमआईडीसी में छोटे-बड़े कई उद्योग चल रहे हैं. वहां के कामगार इसी मार्ग से आना-जाना करते हैं. लेकिन रेलवे गेट बार-बार बंद होने से अक्सर कामगार विलंब से दफ्तर पहुंचते हैं. एक बार गेट बंद होने के बाद आधा-एक घंटे से पहले खुलता नहीं. इसी मार्ग पर अनेक गांव भी हैं, जिनका आना-जाना इसी मार्ग से होता है. इस क्षेत्र के विद्यार्थी भी गेट के कारण काफी परेशान हो गए हैं.

हर बार उपेक्षा ही
रेलवे क्रासिंग पर उड़ान पुल बनाने के लिए कई बार जनप्रतिनिधियों को ज्ञापन दिए गए. लेकिन हर बार इसकी उपेक्षा ही की गई. भाजपा के जिलाध्यक्ष डॉ. राजीव पोतदार, कलमेश्वर तालुकाध्यक्ष उमेश्वर यावलकर, अधि. प्रकाश टेकाडे, प्रकाश वरूडकर, प्रमोद कोल्हे, साहेबराव तिड़के, मंगेश केसरवानी, मनोहर राउत, रमणिक चव्हाण, सुधीर बावने आदि ने इस रेलवे क्रासिंग पर शीघ्र उड़ान पुल बनाने की मांग की है.

Advertisement
File Pic

File Pic

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement