Published On : Thu, Feb 27th, 2014

करजखेड़ा, बावनथड़ी एवं धापेवाड़ा सिंचाई प्रकल्प का जलपूजन समारोह 1 मार्च को

Advertisement


भंडारा और गोंदिया जिले में हरित क्रांति लाने वाले और किसानो के जीवन को सुजलाम सुफलाम करने वाले प्रकल्प करचखेड़ा,बावनथड़ी ,धापेवाड़ा सिंचन प्रकल्प का जलपूजन समारोह आने वाले 1 मार्च को महाराष्ट्र राज्य के उपमुख्यमंत्री अजित पवार, केन्द्रीय भारी उद्योग और सार्वजनिक उपक्रम मंत्री प्रफुल पटेल और जलसंपदा मंत्री सुनील तटकरे कि उपस्थिति में संपन्न होने वाला है। 

प्रकल्प का उद्घाटन महाराष्ट्र राज्य के उपमुख्यमंत्री अजित पवार के हांथो होगा वहीं केन्द्रीय भारी उद्योग और सार्वजनिक उपक्रम मंत्री प्रफुल पटेल कार्यक्रम में अध्यक्ष के रूप में मौजूद होंगे। इसीके साथ ही कार्यक्रम में प्रमुख अतिथि के रूप में अन्न व नागरी पुरवठा मंत्री अनिल देशमुख,भंडारा के पालकमंत्री रणजीत कांबले, जलसंपदा राज्यमंत्री राजेंद्र मुलक मौजूद रहने वाले है। पूर्व मंत्री बंडूभाउ सावरबांधे, आमदार राजेंद्र जैन ,अंदर अनिल बावनकर ,पूर्व मंत्री विलास शृंगारपावर ,नाना पंचबुद्धे ,धनंजय दलाल; ,पूर्व अंदर दिलीप बंसोड़ और कई मान्यवर उपस्थित रहेगे।  भंडारा तालुका  करचखेड़ा उपसा सिंचन प्रकल्प शुरू किया जा है। इस प्रकल्प को शुरू करने कि ज़िम्मेदारी केन्द्रीय भारी उद्योग और सार्वजनिक उपक्रम मंत्री प्रफुल पटेल ने ली थी  उसे निभाते हुए उन्होंने इस प्रकल्प को शुरू करवाने में सफलता हासिल कर ली है। इस

बवंथेडा अंतर्राज्यीय प्रकल्प महाराष्ट्र और मध्यप्रदेश इन दो राज्यो ने मिलकर शुरू किया है वनकायदा के अंतर्गत अटके इस सिंचाई प्रकल्प को क्लीन चित देने का पूरा श्रेय मंत्री प्रफुल पटेल को जाता है। इतना ही नहीं तो साल २००५-०६ से प्रकल्प के लिए ज़रूरी निधि भी मंत्री प्रफुल पटेल ने उपलब्ध कराई। धापेवाड़ा उपसा सिंचाई योजना एक महत्वकांक्षी योजना है। इस प्रकल्प का लाभ हज़ारो हेक्टेयर कृषि जमीन को होगा।

Advertisement
Advertisement

 

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement