Published On : Sat, Aug 30th, 2014

उमरखेड़ (यवतमाल) : गणेशजी के स्थापना जुलूस पर पथराव, कई घायल


दोनों पक्षों पर मामला दर्ज, शहर में तनावपूर्ण शांति


उमरखेड़ (यवतमाल)

उमरखेड़ शहर में गणेशोत्सव की शुरुआत ही तनाव से हुई. प्रथम पूज्य गणपति की स्थापना के जुलूस पर कुछ असामाजिक तत्वों ने कल 29 अगस्त की रात 10 बजे पथराव कर गणेशजी की मूर्ति की अवमानना की. मूर्ति की तोड़फोड़ की. पथराव में दो पुलिस कर्मियों सहित अनेक लोग गंभीर जख्मी हुए हैं. पुलिस ने अपनी सूझबूझ से मामले को संभाल लिया. पुलिस ने दोनों समुदायों के सैकड़ों लोगों के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है.

पुलिस सूत्रों के अनुसार शिवाजी वार्ड का मित्र गणेश मंडल गणेशजी की स्थापना के लिए एक़ जुलूस में गणेशजी की मूर्ति ले जा रहा था. आठवड़ी बाजार से शिवाजी वार्ड की तरफ जाते समय रात 10 बजे के आसपास अचानक विद्युत आपूर्ति खंडित हो गई. बस, अंधेरे का लाभ लेते हुए कुछ लोगों ने जुलूस पर पथराव किया और लकड़ी का राफ्टर फेंक मूर्ति की अवमानना की. मूर्ति का स्वरूप बिगाड़ दिया.

इस आशय की शिकायत अक्षय रमेश कोंढुरकर ने पुलिस थाने में लिखवाई. इसके आधार पर पुलिस ने इनायतुल्लाह जनाब, समंदर लाला, मुकद्दर लाला, शरीफ लाला, सिकंदर लाला, शहजाद लाला, कलीमउल्ला, लाला सर, फिरोज पठान, बबलू पानठेलेवाला, गुड्डू पठान, अकरम खान और फरहान एवं अन्य 45-50 लोगों पर मामला दर्ज किया. उसी तरह शहजाद खान समंदर खान की शिकायत पर अविनाश ठाकुर, विक्की सोनार और अन्य 50 से 70 लोगों पर पथराव कर मोटरसाइकिलों का नुकसान करने के आरोप में विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया. इस घटना में किए गए पथराव में दो पुलिस कर्मी गजानन राठोड और दिगांबर मुसले गंभीर रूप से जख्मी हो गए. ज्वालाप्रसाद मोहनप्रसाद दीक्षित नामक नागरिक भी घायल हुआ है. दोनों पुलिस वालों को अस्पताल में दाखिल किया गया है. इस बीच, रात में ही इस खंडित मूर्ति का विधिवत पूजा-अर्चना कर विसर्जन किया गया और नई मूर्ति की स्थापना की गई. रात से ही जिला पुलिस अधीक्षक संजय दराडे, अपर पुलिस अधीक्षक जानकीराम डाखोरे, उपविभागीय पुलिस अधिकारी अश्विनी पाटिल स्थिति पर नजर रखे हुए हैं. शहर में भारी पुलिस बंदोबस्त किया गया है. शहर में फिलहाल शांति है और किसी को भी अभी तक गिरफ्तार नहीं किया गया है.

File Pic

File Pic