Published On : Fri, Feb 21st, 2020

आंदोलनकारी महिलाओं ने ‘जाणता राजा’ को याद किया

– फारूक नगर ग्राउंड टेका ने ‘सीएए,एनआरसी,एनपीआर’ के खिलाफ आंदोलन सतत जारी

नागपुर: ‘नागपुर का शाहिनबाग’ फारूक नगर ग्राउंड टेका में महिलाओं द्वारा CAA,NRC,NPR के खिलाफ अनिश्चितकालीन धरना- प्रदर्शन शुरू हैं,इस दरम्यान मंगलवार को छत्रपति शिवाजी महाराज जयंती के मौके पर हर्सोल्लास के साथ उन्हें को याद किया गया।

Advertisement

आंदोलन में शामिल महिलाओं ने कहा कि कुछ सांप्रदायिक व फासीवादी ताकतों ने शिवाजी महाराज के इतिहास को एक धर्म विशेष से जोड़ बताने की कोशिश की है,लेकिन हकीकत में छत्रपति शिवाजी महाराज एक जाणता राजा थे।शिवाजी महाराज ने जाति व धर्म के नाम पर कभी प्रजा में भेदभाव नहीं किया। शिवाजी महाराज की सेना में हिंदू – मुस्लिम व अन्य जातियों के लोग शामिल थे।

Advertisement

उपस्थित महिलाओं ने आगे कहा कि इस असंवैधानिक नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ जारी धरना प्रदर्शन में मराठा समाज के लोगों का भी भरपूर समर्थन मिल रहा है।इस अवसर पर शाहनाज़ बेगम, तरन्नुम फ़िरदौस, छाया खोबरागडे, अर्जुमंद बाजी, ताहेरा अंसारी, सुझिया नौशाद, गाज़ला व अन्य महिलाए मौजूद थे।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement