Published On : Mon, Jun 23rd, 2014

अमरावती : बलात्कारियों को भरे चौक पर लटकाएं फ़ांसी पर

Advertisement


युवा स्वाभिमान महिला आघाडी की मांग


पुलिस आयुक्त को ज्ञापन सौंपा


अमरावती

yuwa swabhimani
20 जून को यवतमाल की 21 वर्षीय युवती पर स्थानीय रहाटगांव में सामूहिक बलात्कार के दोषियों को राजकमल चौक पर सरेआम फांसी पर लटकाने की मांग युवा स्वाभिमान संगठन ने की है. अमरावती के पुलिस आयुक्त और जिलाधिकारी को सौंपे ज्ञापन में शहर में अवैध धंधों पर तत्काल रोक लगाने की मांग भी की गई है.

कोई नहीं आया मदद के लिए
युवा स्वाभिमान संगठन की महिला आघाडी द्वारा सौंपे ज्ञापन में कहा गया है कि यवतमाल निवासी इंजीनियरिंग की छात्रा 20 जून को अपनी मार्कशीट लेने अमरावती आई थी. मार्कशीट लेने के बाद युवती ने अपने पुरुष मित्र के साथ रहाटगांव के एक रेस्टॉरेंट में भोजन किया. रात में करीब साढ़े 8 बजे युवती का मित्र उसे उसकी एक सहेली के पास छोड़ने जा रहा था, तभी टोल नाके के पास बाइक से संतोष जायसवाल और रुपेश वडतकर पहुंचे और युवक-युवती की पिटाई कर गाड़ी की चाबी अंधेरे में फेंक दी. साथ ही दोनों के मोबाइल भी बंद कर दिए गए. फिर दोनों को खींचते हुए पास के ही जंगल में लेकर गए. युवक की पिटाई कर उसे निर्वस्त्र कर दोनों ने युवती के साथ बारी-बारी से मुंह काला किया. युवती मदद के लिए चिल्लाती रही, मगर कोई नहीं आया. रात करीब 12 बजे दोनों अपराधी भाग खड़े हुए.

महिलाएं असुरक्षित
ज्ञापन में कहा गया है कि ऐसी अनेक घटनाएं इस क्षेत्र में हो रही हैं. महिलाएं यहां असुरक्षित हो गई हैं. इस तरह की घटनाओं पर रोक लगाने के लिए या तो दोनों नराधमों को राजकमल चौक पर सरेआम फांसी पर लटका दिया जाए अथवा दोनों को आजीवन कारावास की सजा दी जाए. साथ ही शहर में धड़ल्ले से चल रहे अवैध धंधों भी रोक लगाई जाए. मांग पूरी नहीं होने पर युवा स्वाभिमान संगठन की महिला आघाडी सड़क पर उतरकर आंदोलन करेगी.

Advertisement
Advertisement

ज्ञापन की प्रति मुख्यमंत्री, गृह मंत्री को भी
ज्ञापन की प्रति मुख्यमंत्री, राज्य के गृह मंत्री और पुलिस निदेशक को भी भेजी गई है. ज्ञापन पर ज्योति सैरिसे, मेघा हरने, अश्विनी झोड़, सुमति ढोके, रजनी शिंगाड़े, अरुणा चचाने, शालिनी देवरे, सुमन कैथवास, डॉ. प्राची आत्राम, अजबे ताई, स्मिता मोरे, गीता धांडे, लता अम्बुलकर, सीमा लवणकर, वंदना जामनकर और मीराताई कोलटने के हस्ताक्षर हैं.

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement