Published On : Tue, Apr 29th, 2014

अकोला (तेल्हारा) : मिट्टी खोद रहे तीन मजदूरों की मौत


तेल्हारा तहसील के ग्राम घोड़ेगांव में हुआ हादसा

तहसीलदार पाटिल और ट्रैक्टर मालिक पर मामला दर्ज

अकोला (तेल्हारा)

तेल्हारा तहसील के ग्राम घोड़ेगांव में नदी किनारे मिट्टी खोद रहे तीन मजदूरों की मौत हो गई. यह घटना सोमवार को सुबह हुई.

तेल्हारा से घोड़ेगांव के बीच स्थित आस नदी के कछार में अवैध उत्खनन चल रहा था. इसी दौरान मिट्टी का टीला ढह जाने से उसके नीचे दब कर एजाज खां जियाउल्ला खां (25), एजाज खां एनोद्दीन खां (26) तथा सहदेव सोनाजी दामोदर (40) नामक मजदूरों की मौत हो गई. अन्य छह श्रमिक अपनी जान बचाते हुए भागे.

दो ट्रैक्टरों के जरिए नौ मजदूर आज सुबह मिट्टी का उत्खनन कर रहे थे तभी अचानक 50 फीट ऊंचा मिट्टी का टीला ढहने से तीन मजदूर उसके नीचे दब गए. घटना की जानकारी मिलते ही घोड़ेगांव वासी घटनास्थल पर पहुंचे लेकिन मिट्टी का ढेर बहुत बड़ा होने से उसमें दबे किसी भी मजदूर को निकलने में सफलता नहीं मिली. अकोट की उपविभागीय पुलिस अधिकारी रश्मि नांदेड़कर तथा राजस्व विभाग के अधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे तथा उनकी निगरानी में जेसीबी मशीन से तीनों श्रमिकों के शवों को बाहर निकाला गया.

पटवारी बालाजी केंद्रे को अवैध उत्खनन की जानकारी थी. उनका कहना है कि इस मामले की जानकारी उन्होंने 24 अप्रैल को ही तहसीलदार को दी थी. उक्त ब्यौरे की फोटो प्रतियां घटनास्थल पर वितरित करने से तनाव फैल गया था, लेकिन पुलिस ने समय रहते मामले को शांत किया.

गांव में नहीं जला चूल्हा 
इस घटना की जानकारी मिलते ही समूचा गांव शोकमग्न हो गया. तीनों घरों की हालत देख कर किसी के भी घर में चूल्हा नहीं जला. घटना के दोषियों को तुरंत गिरफ्तार कर कड़ी सजा देने की मांग ग्रामवासी कर रहे हैं.

तहसीलदार समेत 3 पर अपराध दर्ज
इस मामले में सौ. रेखा सहदेव दामोदर की शिकायत पर पुलिस ने ट्रैक्टर मालिक अमोल ढोले, नंदकिशोर ढोले (निवासी घोडेगांव) एवं तहसीलदार सचिन पाटिल के खिलाफ धारा 304, 34 के तहत अपराध दर्ज किया है. प्राप्त जानकारी के अनुसार तेल्हारा तहसील में अवैध रेत तथा मिट्टी उत्खनन पटवारी तथा राजस्व अधिकारियों की मिलीभगत से अनेक दिनों से खुलेआम जारी है.

Representational Pic

Representational Pic