Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
    | | Contact: 8407908145 |
    Published On : Sat, Dec 26th, 2020
    nagpurhindinews | By Nagpur Today Nagpur News

    आपके प्यार से मिल सकता है लावारिस श्वानों को घर Save Speechless Organization का 1 जनवरी को एडॉप्शन कार्यक्रम

    नागपुर- सेव स्पीचलेस आर्गेनाईजेशन ( Save Speechless Organization ) की ओर से हर बारकी तरह इस बार भी पेट अडोप्टिव एंड इन्फोर्मटिव ड्राइव फॉर शेल्टर पप्पीज ( Pet Adoptive and Informative Drive for Shelter Puppies ) का आयोजन 1 जनवरी 2021 को हजारी पहाड़ ( Hazari Pahad ) के शेल्टर होम ( Shelter Home ) में रखा गया है. सुबह 11 बजे से लेकर 2 बजे तक इसका आयोजन होगा. इसका आयोजन सेव स्पीचलेस आर्गेनाईजेशन ( Save Speechless Organization ) की संस्थापक स्मिता मिरे ( Founder Smita Mire ) की ओर से किया जा रहा है. इस संस्था की ओर से लावारिस श्वानों को अपने खुद के खर्च से हजारी पहाड़ के शेल्टर होम में रखा जाता है और जख्मी श्वानों का इलाज और उनकी देखभाल की जाती है. छोटे श्वानों के लिए समय समय पर उनको एक अच्छा घर मिले, इस उद्देश्य से उनके लिए एडॉप्शन (Adoption ) का आयोजन भी किया जाता है और पशुप्रेमी ( Animal Lover ) आकर इन्हे गोद ( Adopt ) ले सकते है. इस संस्था में स्मिता मिरे ( Smita Mire ) के साथ कुछ कॉलेज के विद्यार्थी भी जुड़े हुए है और वे भी रोजाना इस शेल्टर होम ( Shelter Home ) में आकर इन बेजुबान श्वानों की सेवा निस्वार्थ भाव से करते है. यह विद्यार्थी खुद के पैसो से इनकी देखभाल और इनके इलाज के साथ साथ रोजाना समय निकालकर शेल्टर होम में आकर इनको खाना खिलाते है और यहां की साफसफाई भी करते है.

    लॉकडाउन के दौरान जब सब कुछ बंद था तो सेव स्पीचलेस आर्गेनाईजेशन ( Save Speechless Organization ) के सदस्यों की ओर से रोजाना शहर के अलग अलग जगहों पर जाकर लावारिस श्वानों को खाना खिलाया जाता था. कई महीनों तक संस्था के लोगों ने श्वानों को खाना खिलाया है. स्मिता मिरे ( Smita Mire ) श्वानों के अधिकारों के लिए हमेशा अग्रसर रही है और श्वानो के साथ क्रूरता करनेवालों के साथ लड़ भी रही है. उन्होंने लोगों से कहा है की महंगे महंगे श्वानों को खरीदने से बेहतर है, इन लावारिस देसी श्वानों को पाले, जिससे की इन्हे एक घर मिले और आपको एक नया वफादार दोस्त.

    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145