Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
    | | Contact: 8407908145 |
    Published On : Tue, Dec 22nd, 2020

    AG के समीर ने किया WORKSHOP में हंगामा

    – समीर-सतीश की जोड़ी मनपा को लगा रही चुना

    नागपुर : मनपा ने KANAK के कामकाजों की बिना समीक्षा किए उसे तो बेदखल कर दिया साथ में AG और BVG को कचरा संकलन के लिए आधा-आधा शहर बाँट दिया।नतीजा दोनों कंपनी को मनमाफिक मुनाफा नहीं होने से सौंपी गई जिम्मेदारी को पूरा करने में असफल देखा जा रहा.कहीं कर्मचारी का आभाव तो कहीं मशीनरी का.मनपा प्रशासन इनसे असंतुष्ट हैं और इन्हें बेदखल भी नहीं कर सकती,इस मज़बूरी को जान खासकर AG अपनी मनमानी पर आ गए.

    AG के HR समीर का हंगामा
    बताया जाता हैं कि समीर और उसकी मंडली आदतन नशे में धुत अक्सर शाम बाद देखे जा सकते हैं.इस क्रम में वे शनिवार की रात 10 बजे के आसपास अपनी मंडली के साथ NMC WORKSHOP में आए और डेढ़-2 बजे रात तक आवाजाही करते रहे.साथ में उपस्थितों को परेशान भी करने की जानकारी मिली हैं.

    मिट्टी मिश्रित कचरों से उठा रहे मुनाफा
    भांडे प्लॉट से बड़ा ताजबाग के बीच शीतला माता मंदिर के समीप ESIC कार्यालय के सामने खुले मैदान में रोजाना मिटटी मिश्रित कचरा उठाने का कारोबार पिछले कुछ सप्ताह से शुरू हैं.यह कारनामा रोजाना शाम 6 से 9 बजे के दरम्यान होने की जानकारी मिली हैं.इस अवैध कृत को चौहाण नामक कर्मी सफल अंजाम दे रहा.इस कार्य में 3 टिप्पर व JCB सक्रिय किये गए हैं.इससे हज़ारों रूपए प्रति टिप्पर प्रति दिन मनपा को नुकसान हो रहा,एक टिप्पर रोजाना 3 से 4 ट्रिप आवाजाही करती हैं.

    मशीन/कर्मी AG का और काम निजी का
    जोन 1 से 5 अंतर्गत AG को कचरा संकलन की जिम्मेदारी सौंपी गई.इन क्षेत्रों से नियमित कचरा संकलन करने के बजाय निजी क्षेत्रों के ग्राहकों को मुंहमांगी सेवा दी जा रही,इसके लिए AG की मशीन/कर्मी का उपयोग कर मनपा को चुना और खुद की जेब गर्म करने का सिलसिला जारी हैं.
    सफेदपोश भी दुखी

    AG-BVG ने मनपा में कदम रखने के पूर्व काफी बड़े-बड़े लुभावने वादे किये थे,जो पूरा नहीं किए.इससे क्षुब्ध होकर अब इनकी नकेल कसने की जुगत लगा रहे हैं.इनके भुगतान फाइलों की भी समीक्षा का सिलसिला जारी होने की खबर हैं.

    गिला-सूखा सिर्फ कागजों पर
    टेंडर शर्तो के मुताबिक AG-BVG को गिला और सूखा कचरा अलग-अलग संकलन करना और भांडेवाड़ी में जमा करना था,लेकिन ऐसा न के बराबर हो रहा.न संकलन हो रहा और न ही भांडेवाड़ी में जमा हो रहा.

    पहुँच वाले बर्खास्त कर्मी हो रहे बहाल
    विगत माह 148 कर्मियों को AG ने जबरन नौकरी से महरूम कर दिया था,इनमें से अधिकतर कर्मी नौकरी पाने के लिए काफी खर्च किये थे.इनमें से जिन-जिन कर्मियों का राजनैतिक पहुँच काफी मजबूत हैं,उनके सिफारिश पर बर्खास्त कर्मियों को पुनः नौकरी पर रखा गया.शेष को घर बैठा दिया गया.नतीजा शहर की स्वच्छता प्रभावित हो रही.

    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145