| | Contact: 8407908145 |
    Published On : Tue, Dec 8th, 2020

    दो दिनों तक तड़पती गाय की नीरज शिंदे ने बचाई जान

    नागपुर– इंसानो की तकलीफ दिखाई देती है और वो इसे बयां भी कर सकता है. लेकिन बेजुबान जानवर की तकलीफ वो बयां नहीं कर सकता. ऐसा ही कुछ नागपुर शहर के बेसा स्थित घोघली में दिखाई दिया. यहां दो दिन पहले एक गाय को किसी वाहनचालक ने टक्कर मार दी, जिसके कारण उस गाय की गर्दन पर और कान पर गहरी चोट लग गई थी. इस कारण उसे न उठना हो रहा था और नाही वो अपनी जगह से हिल रही थी और सड़क पर पड़ी थी. इसी समय घोघली में रहनेवाले नीरज शिंदे सड़क से जा रहे थे, उन्होंने जख्मी गाय को देखा और उसकी मदद करनी चाहिए.

    उन्होंने रविवार से ही कई लोगों को , मनपा को फ़ोन कर जानकारी दी, यहां तक पुलिस को भी जानकारी दी. लेकिन दो दिनों तक किसी ने भी तुरंत उस गाय की मदद नहीं की. इसके बाद नीरज दो दिनों से उस जख्मी गाय को खाना खिला रहे थे और कुछ लोगों की मदद से उन्होंने उसी दिन गाय को सड़क के किनारें में लाकर रखा था. वे लगातार गाय की मदद के लिए प्रयास किए जा रहे थे. ऐसे समय में उन्होंने सामाजिक कार्य में सक्रिय रहनेवाले युवा कुणाल मौर्य से मदद मांगी. इसके बाद कुणाल ने उनको नंबर दिया और उनकी मदद की.

    इसके बाद नीरज ने मनपा की जानवरों की एम्बुलेंस बुलवाई और वे आकर आज सुबह यानी मंगलवार 8 दिसंबर को उस जख्मी गाय को लेकर गए है. इस बारे में नीरज ने ‘ नागपुर टुडे ‘ को बताया की कई पशुओ के लिए काम करनेवाली सामाजिक कार्यकर्ताओ ने भी इसमें मदद की. नीरज का कहना है की अगर जिस दिन वो जख्मी थी. अगर उसी दिन उसे मदद मिल गईं होती, तो उसे दो दिनों तक तकलीफ नहीं झेलनी पड़ती.

    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145