| | Contact: 8407908145 |
    Published On : Thu, Dec 17th, 2020

    आखिर मेडिट्रीना हॉस्पिटल पर एफआईआर दर्ज क्यो नही की गई ?

    नाना पटोले की कारण स्पष्ट करने की सूचना

    नागपुर– नागपुर- महात्मा ज्योतिबा फुले स्वास्थ्य योजना से शहर के मेडिट्रीना हॉस्पिटल को बाहर किया गया है. इससे यह स्पष्ट होता है कि हॉस्पिटल की गलती थी, ऐसा होकर नियम के अनुसार हॉस्पिटल पर एफआईआर दर्ज क्यो नही की गई, इसपर विधानसभा अध्यक्ष नाना पटोले की अध्यक्षता में हाल ही में बैठक हुई. इसपर आनेवाले बुधवार तक इसका कारण स्पष्ट करने की सूचना पटोले ने योजना के अधिकारियों को दी. इस बैठक में योजना के सुधाकर शिंदे , विधायक विकास ठाकरे मौजूद थे.

    गंभीर इलाज और उसका इलाज न कर सकनेवाले गरीबों के लिए महात्मा ज्योतिबा फुले योजना भले ही फायदेमंद हो , लेकिन पहले इस योजना में शामिल रामदासपेठ स्थित मेडिट्रीना हॉस्पिटल ने बीमा कंपनियों से और मरीजों से भी पैसे वसूल करने के आरोप के तहत इस हॉस्पिटल को इस योजना से बाहर किया गया था. लेकिन इस मामले में हॉस्पिटल पर एफआईआर दर्ज नही की गई थी. इसी मामले में नाना पटोले की अध्यक्षता में मुंबई में बैठक हुई. उसी बैठक में एफआईआर हॉस्पिटल पर क्यो नही की गई, इसका कारण स्पष्ट करने की सूचना अधिकारियों से की गई है.

    विधायक विकास ठाकरे के अनुसार स्वास्थ योजना में शामिल हॉस्पिटल के साथ एक अग्रीमेंट होता है. इसके अनुसार नियमों का उल्लंघन करनेवालो पर एफआईआर दर्ज करने की शर्त होती है. लेकिन इस मामले में मेडिट्रीना हॉस्पिटल पर एफआईआर दर्ज नही की गई. इस हॉस्पिटल को क्यों बचाने का प्रयास किया जा रहा है.किस अधिकारी के साथ हॉस्पिटल की मिलीभगत है, यह सभी सवाल इस बैठक में उठाएं गए थे. इस मामले में गंभीरता दिखाते हुए पटोले ने बुधवार 23 दिसंबर तक अधिकारियों को स्पष्ट करने की सूचना दी है.

    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145