Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
    | | Contact: 8407908145 |
    Published On : Mon, Jan 18th, 2021
    nagpurhindinews | By Nagpur Today Nagpur News

    इस्कॉन द्वारा श्री सुदर्शन लक्ष्मी नरसिंह महा यज्ञ सम्पन्न

    अंतरराष्ट्रीय कृष्ण भावनामृत संघ (इस्कॉन) के नागपुर केंद्र श्री श्री राधागोपीनाथ मंदिर, गेट न.2 एम्प्रेस मॉल के पीछे, नागपुर के भक्तों द्वारा शांति एवं कोरोना वैश्विक महामारी क्लेश निवारण हेतु एवं परम पूज्य एच. एच. जय पताका स्वामी महाराज के स्वास्थ्य लाभ हेतु श्री सुदर्शन लक्ष्मी नरसिंह महायज्ञ बड़े उत्साह के साथ संपन्न हुआ। इस यज्ञ में कुल 125 यजमान थे तथा सभी ने व्यतिगत पवित्रता के साथ साथ सभी यजमानों ने एवं पुरोहितों ने उपवास रखा।

    कुल 17 यज्ञ कुंड बनाये गये जिनके नाम है दिव्य नरसिंह, उग्र नरसिंह, नारायण नृसिंह, चिंतामणि नृसिंह, ज्वालामालिने नृसिंह, भीषण भद्र नृसिंह, प्रह्लाद वरदायक नृसिंह, जय नृसिंह, श्री लक्ष्मी नृसिंह, पाताल नृसिंह, सुदर्शन नृसिंह, कालाग्नि रुद्र नृसिंह, अनंत नृसिंह, वीर नृसिंह, अभयंकर नृसिंह, योगपीठस्थित नृसिंह एवं बालसच्चिदानंद विग्रह नृसिंह। शास्त्रों में वर्णन है “कलि प्रवेशने च अपि नरसिंह न विस्मरेत” इस कलियुग में सम्पूर्ण दोषों की निवृत्ति हेतु नरसिंह यज्ञ राम बाण औषधि है ! इनके स्मरण मात्र से जीव के सभी दोषों का क्षय हो जाता है।
    इस्कॉन प्रवक्ता डॉ.श्यामसुंदर शर्मा ने बताया कि इस आयोजन के लिये जय पताका स्वामी महाराज ने श्रील लोकनाथ स्वामी महाराज का आभार माना। लोकनाथ महराज ने जूम क्लाउड मीटिंग के माध्यम से सभी भक्तों को संबोधित करते हुये कहा, सर्वे भवन्तु सुखिनः, सम्पूर्ण विश्व के सभी लोग सुखी, स्वस्थ एवं प्रशन्न रहे इस उद्देश्य से भी इस यज्ञ का आयोजन किया गया है। इस्कॉन नागपुर के अध्यक्ष सचिदानंद प्रभु ने मंदिर प्रांगण में श्रीमद्भगवद्गीता के महत्व को समझाया एवं उसके सिद्धान्तों को पालन करने के लिये सभी को प्रोत्साहित किया।

    कार्यक्रम के मुख्य पुरोहित गोपसखा प्रभु थे तथा प्रत्येक कुंड के पुरोहित थे अनंतशेष दास, अद्वैत आचार्य दास, कृष्ण भक्त दास, वैंकुण्ठ नायक दास, विशाल दास, वंशिवदन दास, प्राण नाथ दास, त्रिभुवन दास, वृजेन्द्र तनय दास, आराध्य भगवान दास, करपंकज दास, जय कृष्ण दास, जगन्नाथ पुरी प्रभु, नील माधव दास, मुरली माधव दास एवं कल्पतरु दास। इस महायज्ञ में कुल एक लाख आहुतियां डाली गयी

    कार्यक्रम के यजमान थे अशोक महाजन, सचिन महाजन, मनीष लूथरा, चैत्य गुरु दास, अनुसूया देवी दासी, रविशंकर अग्रहरि, आशीष प्रभु, डॉ. गजानन मुकदम, स्वरूप दामोदर दास, विशाखा गोपी दासी, पांडुरक्षक दास, राजेन्द्र जोधपुरकर, रंगपुरी दास, श्याम निमाई दास, जय कृष्ण दस्स, स्वर्ण गोपी दासी, अनिल गुप्ता, अनिल अग्रवाल, संजय ठाकरे, भवानी शंकर पारधी, निरंजन नगपुरे, धर्मपुत्र युधिस्ठिर दस, स्वर्णा बेले, विनोद शिवहरे, अनिल जैसवाल रामस्तुति देवी दासी, पाण्डे प्रभु, स्वर्ण मंजरी देविदासी, आशीष लोहिया, मनोज आष्टांनकर इत्यादि।


    Trending In Nagpur
    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145